ALL लेख
VHP के राष्ट्रीय समन्वय समिति प्रमुख बालकृष्ण नाइक का निधन
November 19, 2020 • Anil Kumar

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय समन्वय समिति प्रमुख एवं परिषद के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बालकृष्ण नायक का बुधवार की रात यूपी के कुशीनगर में निधन हो गया। बीते दिनों उन्होंने जागरण से बातचीत में कुशीनगर में देह त्याग व भगवान बुद्ध के दर्शन की अंतिम इच्छा जताई थी।

 

गोरखपुर / विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय समन्वय समिति प्रमुख एवं परिषद के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बालकृष्ण नाइक का बुधवार की रात कुशीनगर में निधन हो गया। बुधवार की सुबह जागरण से बातचीत में कुशीनगर में देह त्याग व भगवान बुद्ध के दर्शन की अंतिम इच्छा जताई थी। यह उनका अंतिम साक्षात्कार रहा

मुंबई से बुधवार सुबह कुशीनगर पहुंचे थे

देह त्याग के पूर्व उन्होंने महापरिनिर्वाण मन्दिर में बुद्ध प्रतिमा के दर्शन पूजन किया था। वह महाराष्ट्र के मुंबई से बुधवार अल सुबह कुशीनगर पहुंचे थे। यहां दर्शन करने के बाद वह तहसील क्षेत्र के कछुहिया भी गए थ। वहां उन्होंने विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे अशोक सिंघल के निजी सचिव धमेंद्र ओझा के घर में गए थे। वहां से लौटने के बाद शाम सात बजे अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी तो विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी इलाज के लिए उन्हें एक निजी अस्पताल में ले गए। वहां स्थिति नियंत्रित नहीं होने पर चिकित्सक ने उन्हें गोरखपुर रेफर कर दिया। वहां जाते समय रास्ते में उनका निधन हो गया। रात में ही अंतिम संस्कार के लिए उनका शव औरंगाबाद (महाराष्ट्र) ले जाया गया। 

काशी विश्वनाथ मंदिर और श्रीकृष्ण जन्म भूमि पर कही थी यह बात

बुधवार की सुबह जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा था कि काशी विश्वनाथ मंदिर और अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि और मथुरा में श्रीकृष्ण जन्म भूमि को हासिल करना ही विश्व हिंदू परिषद के एजेंडे में रहा है। श्रीराम जन्म भूमि लंबे संघर्ष के बाद प्राप्त हुई है, भव्य मंदिर का निर्माण कार्य भी शुरू हो गया है, अब काशी विश्वनाथ मंदिर और श्रीकृष्ण जन्म भूमि प्राप्त करना हमारा लक्ष्य है। 

निधन पर नेताओं ने दुख जताया

उनके निधन पर कुशीनगर बौद्ध भिक्षु संघ के अध्यक्ष भदन्त ज्ञानेश्वर, सांसद विजय दुबे, विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, आरएसएस के बौद्धिक प्रमुख सुरेश गुप्त, विहिप नेता धर्मेंद्र ओझा, संस्कार भारती प्रमुख डॉ.अनिल सिन्हा, हियुवा जिला उपाध्यक्ष ओमप्रकाश वर्मा आदि ने दुःख जताया है। नेताद्वय ने हिन्दू समाज व देश की अपूरणीय क्षति बताया है।

 

Sources: जेएनएन