ALL लेख
अखिलेश का दावा, भाजपा की झूठी सरकार को हटाने के लिए सपा के साथ आ रहे लोग
October 27, 2020 • Anil Kumar

 

सपा मुख्‍यालय में पूर्व केंद्रीय मंत्री और पांच बार सांसद रह चुके सलीम शेरवानी, अंबेडकर नगर के पूर्व बसपा सांसद त्रिभुवन दत्‍त समेत कई प्रमुख लोगों ने समाजवादी पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण की। उत्‍साहित अखिलेश यादव ने साफ संकेत दे दिया कि वह आने वाले समय में छोटे दलों के साथ समझौता कर चुनाव मैदान में उतरेंगे।

लखनऊ /  समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को राज्‍य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका लक्ष्‍य 2022 में होने वाला विधानसभा चुनाव है। उन्होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश की मौजूदा सरकार झूठी है और इसको हटाने के लिए लोग समाजवादी पार्टी के साथ आ रहे हैं। मंगलवार को समाजवादी पार्टी के मुख्‍यालय में कई प्रमुख नेताओं के सपा में शामिल होने के बाद पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि आने वाले समय में जो चुनाव होने जा रहा है, वह न केवल उत्‍तर प्रदेश का चुनाव होगा बल्कि देश की राजनीति का भविष्‍य तय करेगा। उन्‍होंने कहा कि समाजवादी पार्टी का लक्ष्‍य 2022 है और उसकी शुरुआत उप चुनाव से हो रही है। समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं का स्‍वागत करते हुए अखिलेश ने दावा किया कि उप चुनाव में सपा का प्रदर्शन बहुत अच्‍छा रहेगा।

सपा मुख्‍यालय में पूर्व केंद्रीय मंत्री और पांच बार सांसद रह चुके सलीम शेरवानी, अंबेडकर नगर के पूर्व बसपा सांसद त्रिभुवन दत्‍त समेत कई प्रमुख लोगों ने समाजवादी पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण की। उत्‍साहित अखिलेश यादव ने साफ संकेत दे दिया कि वह आने वाले समय में छोटे दलों के साथ समझौता कर चुनाव मैदान में उतरेंगे। उन्‍होंने कहा कि प्रयास होगा कि और लोगों को पार्टी से जोड़ा जाए। अखिलेश की पत्रकार वार्ता में जनवादी पार्टी के अध्‍यक्ष डाक्‍टर संजय चौहान और महान दल के अध्‍यक्ष केशव देव मौर्य मौजूद थे। अखिलेश ने इन नेताओं का जिक्र करते हुए कहा कि संजय चौहान लोकसभा का चुनाव हमारी पार्टी से लड़े और अगर भारतीय जनता पार्टी ने बेईमानी न की होती तो आज ये सांसद होते। लंबे समय बाद पत्रकारों से मुखातिब अखिलेश यादव ने कोविड-19 में सरकार पर कम जांच कराने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि सरकार और सरकार के लोग न तो बीमारी से लड़ रहे हैं और न ही अस्‍पतालों में इलाज करा रहे लोगों को कोई सुविधा दे पा रहे हैं। अखिलेश ने कहा कि बड़ी संख्‍या में लोगों की जान गई जिसमें कैबिनेट के मंत्री और विधायक भी शामिल हैं।

ग्राउंड पर काम करने वाले अधिकारी और पत्रकारों की भी जान गई। अब सरकार कह रही है कि हमें इस बीमारी के साथ रहना पड़ेगा। उन्‍होंने सवाल किया कि अस्‍पतालों की स्थिति बेहतर क्‍यों नहीं हो रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि उप्र की सरकार आंकड़े छिपाती है तो इससे क्‍या उम्‍मीद करोगे। उप्र में न जाने कितनी घटनाएं हुई जिसमें सरकार ने अपनी जिम्‍मेदारी नहीं निभाई। कार्यक्रम का संचालन समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष नरेश उत्‍तम पटेल ने किया। धौलाना के विधायक असलम चौधरी की पत्‍नी नसीम बेगम, हरदोई जिले के पूर्व बसपा विधायक आसिफ खान बब्‍बू, कानपुर देहात के कैप्‍टन इंद्र सिंह पाल, महराजगंज के जिला पंचायत अध्‍यक्ष प्रभु दयाल चौहान, सेवानिवृत्‍त पीसीएस अधिकारी वीके सैनी समेत कई प्रमुख लोगों ने सपा की सदस्‍यता ग्रहण की।

Source:Agency News