ALL लेख
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू होते ही जमीन के दाम आसमान पर,वेटिकन सिटी की तर्ज पर बनेगी अयोध्या
September 21, 2020 • Anil Kumar

दुनिया में ईसाई धर्म के 230 करोड़ अनुयायी हैं और उनका सबसे बड़ा धार्मिक स्थल वेटिकन में मौजूद सेंट पीटर बेसिलिका। इसका परिसर करीब 108 एकड़ में है। इसी तरह सऊदी अरब के मक्का में मुसलमानों का सबसे बड़ा पवित्र धर्मस्थल है। इस धर्म को विश्व में 180 करोड़ लोग मानते हैं। इसी तरह अब इंतजार है राम मंदिर के निर्माण का। आपको बता दें कि दुनिया में करीब 110 करोड़ लोग हिंदू धर्म के अनुयायी हैं और अब इनकी इच्छा है कि बाकी धर्मों की तरह इनके लिए भी एक भव्य मंदिर का निर्माण हो, जिसकी आधारशिला बीते दिनों देश के प्रधानमंत्री ने रखी। अयोध्या में राम मंदिर के हकीकत बनने की हसरत अब आकार लेने को तैयार है। लेकिन यूपी की योगी सरकार की भी अपनी तैयारी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में कई बड़े इन्फ़्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट की घोषणा की थी। इनमें थ्री स्टार होटल, इंटरनेशनल एयरपोर्ट के साथ अयोध्या को भारत का वैटिकन सिटी बनाने का वादा किया। अयोध्या के राम मंदिर को इतना खूबसूरत व भव्य लुक दिया जाएगा कि दुनिया के नक़्शे में यह वेटिकन सिटी और मक्का से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण हो जाएगा। इन सब के बीच यहां ज़मीन की मांग अचानक से बढ़ गई है।

भूमि पूजन के बाद दोगुना हुए जमीन के रेट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम जन्मभूमि मंदिर के लिए भूमि पूजन किये जाने के बाद से अयोध्या में जमीन की कीमतों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। टाइम्स आफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक महीने में यहां की जमीन की कीमत दोगुनी हो गई है। अयोध्या के अंदरुनी इलाकों में जमीन की कीमत 1000 से 1500 रुपए प्रति वर्ग फीट तक हो गई है, जबकि शहर के बीचों बीच मौजूदा कीमत 2000-3000 रुपए प्रति वर्ग फीट है। कीमतों में बेतहाशा वृद्धि की वजह केंद्र व राज्य सरकार द्वारा अयोध्या के विकास और कई इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की घोषणा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अयोध्या को विश्वस्तरीय शहर बनाने की घोषणा का भी असर माना जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले, कोई भी आसानी से 900 वर्ग फुट से कम की जमीन खरीद सकता था।

Source: Agency news