ALL लेख
बालासुब्रमण्यम के निधन से भारतीय संगीत ने एक सुरीली आवाज खो दी: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
September 25, 2020 • Anil Kumar

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि एस पी बालासुब्रमण्यम के निधन से भारतीय संगीत ने एक बेहद सुरीली आवाज खो दी।

 

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रसिद्ध गायक एस पी बालासुब्रमण्यम के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए शुक्रवार को कहा कि उनके निधन से भारतीय संगीत ने एक सुरीली आवाज खो दी जिन्हें उनके असंख्य प्रशंसक ‘गायकी का चांद’ कहते थे। राष्ट्रपति कोविंद ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘एस पी बालासुब्रमण्यम के निधन से भारतीय संगीत ने एक बेहद सुरीली आवाज खो दी। उन्हें उनके प्रशंसक उन्हें गायकी का चांद कहते थे। उन्हें पद्म भूषण सहित कई राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरी संवेदनाएं बालासुब्रमण्यम के परिवार, मित्र और प्रशंसकों के साथ हैं।’’ गौरतलब है कि 74 वर्षीय एस पी बालासुब्रमण्यम का शुक्रवार को चेन्नई के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वहां उनका कोरोना वायरस संक्रमण का उपचार चल रहा था। अगस्त में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बालासुब्रमण्यम ने अपने पांच दशक से अधिक लंबे करियर में अपनी गायकी से लाखों दिलों को जीता।

President of India
 
@rashtrapatibhvn
In the passing of music legend SP Balasubrahmanyam Indian music has lost one of its most melodious voices. Called ‘Paadum Nila' or ‘Singing Moon’ by his countless fans, he was honoured with Padma Bhushan and many National Awards. Condolences to his family, friends and admirers.