ALL लेख
बरेली में हेरोइन की फैक्टरी चलाता है ड्रग माफिया, देहरादून में फैला जाल, जांच में जुटा नारकोटिक्स
November 6, 2020 • Anil Kumar

 

राजधानी में हेरोइन जैसा घातक नशा तस्करी कराने वाले के तार बरेली से जुड़े हैं। बताया जा रहा है कि ड्रग माफिया वहां पर बाकायदा फैक्टरी चलाता है। अब नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) बरेली में इस तस्कर के नेटवर्क को तोड़ने के लिए काम कर रहा है। ब्यूरो को यह जानकारी बुधवार को गिरफ्त में आए दो तस्करों से मिली है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम को रायवाला में हेरोइन तस्करी करने वालों की जानकारी मिली थी। इस पर टीम ने वहां पर एक महिला और एक पुरुष को 51 ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया था। आरोपियों से ब्यूरो को बरेली के एक बड़े सरगना के बारे में पता चला। यह पहली बार नहीं जब नशे के तस्करों के तार बरेली से जुड़े हैं। इससे पहले भी पुलिस कार्रवाई में बरेली के खान आदि का नाम सामने आ चुका है। हालांकि, पुलिस अभी तक इनका सुराग नहीं लगा सकी है।
अब चूंकि कार्रवाई नारकोटिक्स ब्यूरो ने की है तो इसमें आगे भी कार्रवाई की बात कही जा रही है। ब्यूरो के सूत्रों के मुताबिक बरेली में इस माफिया का नेटवर्क तोड़ने के लिए काम शुरू हो चुका है। उत्तरप्रदेश में ब्यूरो की इकाई को इस संबंध में जानकारी दी गई है। दावा तो यहां तक किया जा रहा है कि इस रैकेट का खुलासा 15 से 20 दिन के भीतर किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि माफिया बरेली में फैक्टरी चलाता है। मामले में ब्यूरो के पास अब तक लगभग पूरी जानकार आ चुकी है।
बिजनौर के रास्ते होती है तस्करी

बरेली के इस माफिया ने बिजनौर के रास्ते देहरादून और उत्तराखंड के कई जिलों में अपना जाल फैलाया हुआ है। रायवाला से पकड़े गए पैडलरों ने धामपुर बिजनौर से हेरोइन लाना बताया था। ऐसे में ब्यूरो की टीम धामपुर में उन तस्करों के बारे में भी पड़ताल कर रही है।

रायवाला से गिरफ्तार पैडलरों से बहुत बड़ी जानकारी हाथ लगी है। ब्यूरो की एक टीम इस पर काम कर रही है। जल्द ही बड़ी कार्रवाई की जा सकती है। - देवानंद, असिस्टेंट डायरेक्टर, एनसीबी


Sources:AmarUjala