ALL लेख
बीपीआरडी के 50वें स्थापना दिवस पर बोले पी.एम मोदी सभी के लिए प्रभावी संवेदनशील सुरक्षा प्रणाली की जरूरत
August 29, 2020 • Anil Kumar

 

नयी दिल्ली/ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि सरकार का जोर आधुनिक, प्रभावी और संवेदनशील सुरक्षा ढांचे पर है जो समाज के सभी वर्गों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा कर सके। मोदी ने पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो बीपीआरडी के 50वें स्थापना दिवस के अवसर पर एक संदेश में यह बात कही। यहां नॉर्थ ब्लॉक में केंद्रीय गृह मंत्रालय में आयोजित एक वेबिनार में प्रधानमंत्री का संदेश पढ़ा गया जिसमें गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी और गृह सचिव अजय भल्ला ने भाग लिया। बीपीआरडी की स्थापना 1970 में आज के ही दिन की गयी थी और यह गृह मंत्रालय के अधीन पुलिस व्यवस्था के थिंकटैंक के रूप में काम करता है। प्रधानमंत्री के हवाले से गृह मंत्रालय के बयान में कहा गया पिछले 50 साल में बीपीआरडी राष्ट्र की सेवा की अपनी प्रतिबद्धता में अटल रहा है। 

उन्होंने कहा, हमारा जोर आधुनिक प्रभावी और संवेदनशील सुरक्षा ढांचा रखने पर है जो समाज के सभी वर्गों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा करता हो। मोदी ने कहा, शांति एवं सुरक्षा को बनाये रखने के लिए एक दक्ष माध्यम सुनिश्चित करने के लिहाज से प्रौद्योगिकी के तीव्र उन्नयन के साथ कदम मिलाकर चलने की आवश्यकता आज से पहले कभी भी इतनी अधिक नहीं रही है। उनके हवाले से वक्तव्य में कहा गया प्रौद्योगिकी और मानव संसाधनों के अभीष्ट उपयोग के लिए नवाचार और अनुसंधान पर ध्यान देने की जरूरत है। पुलिस बल की पहुंच और क्षमताओं को नागरिक.केंद्रित तथा नागरिक.हितैषी दृष्टिकोण के साथ और बढ़ाने के लिए कौशल अनुसंधान और प्रशिक्षण के क्षेत्रों को सतत उन्नत करना महत्वपूर्ण है।गृह मंत्री अमित शाह ने भी संगठन को इस मौके पर शुभकामनाएं दीं। शाह ने ट्वीट किया पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो को उसकी स्वर्ण जयंती वर्षगांठ के अवसर पर बधाई। बीपीआरडी ने अनुसंधान एवं विकास के जरिये भारत की आंतरिक सुरक्षा को सुदृढ़ करने में अहम भूमिका निभाई है। मैं देश में एक मजबूत और आधुनिक पुलिस प्रणाली के लिए बीपीआरडी के सतत प्रयासों के लिए उसे सलाम करता हूं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रेड्डी ने अपने संबोधन में कहा कि नई सोच और उभरती प्रौद्योगिकी तथा पुलिस बल को राष्ट्र की सुरक्षा के लिए सक्षम बनाना नवीन और आत्म.निर्भर भारत का एक महत्वपूर्ण पहलू है। उन्होंने कहा कि बदलते समय के साथ कदम मिलाकर चलने के लिए देश में कानून एवं व्यवस्था अवसंरचना में तेजी लाए जाने की जरुरत है और इसे अनुसंधान एवं विकास के बिना अर्जित नहीं किया जा सकता। रेड्डी ने जयपुर में केन्द्रीय गुप्तचर प्रशिक्षण संस्थान;सीडीटीआई का उद्घाटन किया और छात्र पुलिस कैडेट्स की वेबसाइट जारी की। बीपीआरडी की स्वर्ण जयंती पर एक स्मारक डाक टिकट स्मारिका तथा सार संग्रह का भी अनावरण किया गया।

Source: Agency News