ALL लेख
BJP MLA Case: डीएनए प्रकरण में महिला आज होगी बाल आयोग में पेश, जानिए पूरा मामला
October 27, 2020 • Anil Kumar

भाजपा विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला नवजात बच्ची के गैरकानूनी डीएनए टेस्ट मामले में मंगलवार को बाल अधिकार संरक्षण आयोग में पेश होकर पक्ष रखेगी। आयोग ने बीते सप्ताह महिला को थाना नेहरू कालोनी पुलिस के माध्यम से समन भेजकर पेश होने के आदेश दिए थे।

 

देहरादून / भाजपा विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला नवजात बच्ची के गैरकानूनी डीएनए टेस्ट मामले में मंगलवार को बाल अधिकार संरक्षण आयोग में पेश होकर पक्ष रखेगी। आयोग ने बीते सप्ताह महिला को थाना नेहरू कालोनी पुलिस के माध्यम से समन भेजकर पेश होने के आदेश दिए थे।

दरअसल, बीते अगस्त माह में बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के पूर्व सदस्य हरि सिंह नेगी ने आयोग में शिकायत की थी कि महिला ने गैरकानूनी तरीके से डीएनए टेस्ट करवाया। इसका संज्ञान लेते हुए आयोग ने इस प्रकरण में पुलिस को जांच के निर्देश दिए थे। इसके बाद आयोग के निर्देश पर पुलिस ने महिला को नवंबर प्रथम सप्ताह में समन भेजा था, जिसमें महिला को बाल आयोग के समक्ष पक्ष रखते हुए 19 सितंबर पेश होने के लिए कहा गया था। 

आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि उस समय महिला ने पत्र भेजकर कहा था कि शिकायत की प्रतिलिपी न होने के कारण वह जवाब देने में असमर्थ है, जिसकी नई तिथि 29 सितंबर को बताई गई। पर महिला आयोग में पेश नहीं हुई। इसलिए नेहरू कॉलोनी थाने के माध्यम से दून में रह रही महिला को शिकायत की प्रतिलिपी दोबारा भेजकर 27 अक्टूबर को दोपहर तीन बजे आयोग के समक्ष अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया है।

 

जानिए पूरा मामला 

गौरतलब है कि इसी साल अगस्त में एक महिला ने विधायक महेश नेगी पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। महिला ने देहरादून में नेहरू कॉलोनी पुलिस थाने में दी अपनी तहरीर में आरोप लगाया था कि विधायक ने साल 2016 से उसके साथ नैनीताल, दिल्ली, मसूरी और देहरादून आदि अलग-अलग स्थानों पर कथित तौर पर दुष्कर्म किया। महिला ने दावा किया था कि विधायक से उसकी एक बच्ची भी है और उसका DNA टेस्ट कर सत्यता का पता लगाया जा सकता है।

 

महिला का कहना था कि वह अपनी मां की बीमारी के इलाज के सिलसिले में विधायक से मिली थी। इससे पहले, विधायक की पत्नी रीता नेगी ने भी महिला पर अपने पति को ब्लैकमेल करने का आरोप लगाते हुए नेहरू कॉलोनी पुलिस थाने में एक मुकदमा दर्ज कराया था। रीता ने आरोप लगाया है कि महिला उनके पति को बदनाम कर रही है और पांच करोड़ रुपए मांग रही है। 

Source:जेएनएन