ALL लेख
चौथे साल भी गर्म रहा सितंबर का महीना, कम बारिश बन रही वजह
September 22, 2020 • Anil Kumar

उत्तराखंड में पिछले तीन साल की तरह इस बार भी सितंबर का महीना काफी गर्म रहा। हालांकि पिछले साल की तुलना में अधिकतम तापमान में मामूली कमी दर्ज की गई है। मौसम विभाग की ओर से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष 20 सितंबर सबसे गर्म दिन रहा, जबकि अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री के रिकॉर्ड  डिग्री स्तर तक पहुंच गया।

पिछले साल तीन सितंबर को अधिकतम तापमान 34.9 डिग्री तक पहुंचा था। इसके अलावा 2018 में छह सितंबर को 34.5 और 2017 में 18 सितंबर को 34.1 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया था।
यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather: मानसून सीजन के दौरान 10 जिलों में सामान्य से कम हुई बारिश
2010 से 2016 के बीच केवल एक बार 2015 में तापमान 34 डिग्री के स्तर तक पहुंचा था। वैसे सितंबर में सबसे अधिक तापमान का ऑल टाइम रिकॉर्ड वर्षों पुराना है। चार सितंबर 1974 को सबसे अधिक 36.6 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया था।

2010 से 2016 के बीच केवल एक बार 2015 में तापमान 34 डिग्री के स्तर तक पहुंचा था। वैसे सितंबर में सबसे अधिक तापमान का ऑल टाइम रिकॉर्ड वर्षों पुराना है। चार सितंबर 1974 को सबसे अधिक 36.6 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया था।
कम बारिश से बढ़ी गर्मी
मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, इस वर्ष सितंबर में बारिश काफी कम रही है। इसके कारण अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई। सितंबर में सामान्य से केवल 25 फीसदी ही बारिश हुई। राज्य के ज्यादातर इलाकों में सितंबर महीने में बारिश ही नहीं हुई।

दो दिन कई जगह होगी भारी बारिश
मौसम केंद्र के अनुसार बुधवार और बृहस्पतिवार को प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं, कुमाऊं मंडल के कई क्षेत्रों में बहुत भारी बारिश भी होने का अनुमान है। बिक्रम सिंह ने बताया कि यह इस मानसून सत्र की अंतिम बारिश भी हो सकती है। उत्तराखंड में सामान्य तौर पर 28-29 सितंबर को मानसून की विदाई होती है।

Source:Agency News