ALL लेख
देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. शिवरामकृष्ण का हुआ निधन, अस्पताल में कोरोना का चल रहा था इलाज
August 31, 2020 • Anil Kumar

नई दिल्ली / दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत अस्पताल में देश के पहले कार्डियक केयर यूनिट की स्थापना करने वालीं देश की पहली महिला कार्डियोलॉजिस्ट डॉ शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का बीती शनिवार की देर रात कोरोना वायरस की वजह से निधन हो गया। बताया जा रहा है कि डॉ शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती 103 साल की थीं। डॉ शिवरामकृष्ण अय्यर पद्मावती का जन्म म्यांमार में हुआ था। मगर वह द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी आक्रमण के बाद भारत आ गई थीं और देश की पहली महिला हृदय रोग विशेषज्ञ बन गईं।

खबर के मुताबिक 11 दिन पहले उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थीं, जिसके बाद उन्हें नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट (एनएचआई) में भर्ती कराया गया। बता दें कि इस नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट की स्थापना भी 1981 में उन्होंने ही की थी। वहां पर वह ऑक्सीनज पर थीं। एनएचआई के सीईओ और मुख्य हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. ओपी यादव ने कहा कि वह शनिवार सुबह तक ऑक्सीजन पर काफी स्थिर थीं। उन्हें वेंटिलेटर पर रखा जाना था, मगर रात में ही उनका निधन हो गया। वह पिछले पांच वर्षों से व्हीलचेयर के सहारे थीं। वह मानसिक रूप से बहुत तेज थी। उन्होंने कहा कि हमारे केंद्र का उन्होंने उद्घाटन किया था।

Source :Agency news