ALL लेख
दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'खराब' श्रेणी में दर्ज, जानें कब तक रहेगा प्रभाव
October 10, 2020 • Anil Kumar

दिल्ली की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के ‘सिस्टम आफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने कहा कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में रविवार तक सुधार होकर इसके ‘‘मध्यम’’ श्रेणी में आने की उम्मीद है।

 

नयी दिल्ली / राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु की गुणवत्ता शुक्रवार को ‘‘खराब’’ श्रेणी में दर्ज की गई लेकिन एक सरकारी एजेंसी ने कहा कि इसमें रविवार तक हवा की दिशा में बदलाव होने की उम्मीद के चलते सुधार हो सकता है। दिल्ली में शुक्रवार को हवा की गति अधिकतम 15 किलोमीटर प्रति घंटा रही और इसकी दिशा उत्तरपश्चिम थी। न्यूनतम तापमान 19.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कम तापमान और हवा स्थिर रहने से सतह के नजदीक प्रदूषक जमा हो जाते हैं जिससे वायु की गुणवत्ता प्रभावित होती है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के ‘सिस्टम आफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने कहा कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में रविवार तक सुधार होकर इसके ‘‘मध्यम’’ श्रेणी में आने की उम्मीद है। 

बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव के क्षेत्र के उत्तर और मध्य भारत में वायु संचरण को प्रभावित करने की संभावना है। दिल्ली में सतही हवा की दिशा में सोमवार तक बदलाव होने एवं उत्तर पश्चिम से दक्षिण पूर्वी होने की संभावना है।’’ सफर ने कहा, ‘‘इससे आने वाले सप्ताह में हवा की गुणवत्ता सकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकती है।’’ दिल्ली की 24 घंटे का औसत एक्यूआई 202 रहा जो कि बृहस्पतिवार को 208 था। वायु गुणवत्ता 101 से 200 तक ‘मध्यम’, 201 से 300 तक ‘खराब’, 301 से 400 तक ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ मानी जाती है।

Source:Agency News