ALL लेख
दिल्ली: खालिस्तान समर्थक दो आतंकी गिरफ्तार, सरकारी भवन पर स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर फहराया था खालिस्तानी झंडा
August 30, 2020 • Anil Kumar

दिल्ली / खालिस्तान समर्थक दो आतंकी गिरफ्तार, सरकारी भवन पर स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर फहराया था खालिस्तानी झंडा

राजधानी दिल्ली से रविवार को खालिस्तान समर्थक दो आतंकी गिरफ्तार किए गए हैं. दोनों की पहचान इंद्रजीत गिल और जसपाल सिंह के रूप में की गई है. इन दोनों ने पंजाब के मोगा में जिलाधिकारी कार्यालय में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर खालिस्तान का झंडा फहराया था. पुलिस ने बताया कि दोनों आतंकी प्रतिबंधित चैनल सिख फॉर जस्टिस से भी जुड़े हुए है. आतंकियों की गिरफ्तारी की खबर से राजधानी में सनसनी फैल गई है, पुलिस दोनों संदिग्धों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है. फिलहाल इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस अभी कुछ भी बात करने से मना कर रही है.

बता दें कि दोनों संदिग्धों ने एक खालिस्तानी झंडा तैयार करवाया और अपने एक अन्य साथी के साथ 15 अगस्त को पंजाब के मोगा जिले में स्थित उपायुक्त दफ्तर पर झंडा फहरा दिया. इस मामले को लेकर मोगा में एक मुकदमा भी दर्ज हुआ था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इन्हें गिरफ्तार किया है. दो हफ्ते पहले जिलाधिकारी ऑफिस पर भारत का झंडा उतारकर खालिस्तानी झंडा वहां फहरा दिया गया था. अब वह दोनों संदिग्ध आतंकवादी पुलिस की गिरफ्त में है.

स्पेशल सेल के डीसीपी संदीप यादव की टीम ने एक सूचना के आधार पर इंद्रजीत सिंह और जसपाल सिंह नाम के दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली में करनाल रोड पर इनकी गिरफ्तारी की गई है. खालिस्तान जिंदा फोर्स के साथ इनके संबंध बनाए जा रहे हैं. साथ ही प्रतिबंधित सिख फॉर जस्टिस नाम के संगठन के साथ भी जुड़े हुए हैं.

दोनों आतंकियों ने 15 अगस्त को फहराया था झंडा

कुछ दिन पहले एक अलर्ट जारी हुआ था, जिसमें कहा गया था कि अगर 15 अगस्त को कोई शख्स लाल किले पर खालिस्तानी झंडा फहराता है तो उसे सवा लाख डॉलर दिए जाएंगे और अगर किसी सरकारी दफ्तर पर झंडा फहराता है तो उसे ढाई हजार डॉलर दिया जाएगा. पुलिस के मुताबिक, दोनों संदिग्धों ने एक खालिस्तानी झंडा तैयार करवाया और अपने एक अन्य साथी के साथ 15 अगस्त को पंजाब के मोगा जिले में स्थित जिलाधिकारी दफ्तर पर झंडा फहरा दिया. इस मामले को लेकर मोगा में एक मुकदमा भी दर्ज हुआ था. इसके बाद ये दोनों संदिग्ध विदेश भागने की फिराक में थे. इसी दौरान दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने करनाल रोड पर गिरफ्तार कर लिया. फिलहाल दोनों से पूछताछ जारी है.

इससे पहले भी जून में गिरफ्तार किए गए थे तीन खालिस्तान समर्थक आतंकी

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था, दिल्ली पुलिस ने बताया था कि इनकी गिरफ्तारी के बाद हत्या की कोशिश और जबरन वसूली की साजिश को नाकाम कर दिया गया है. पुलिस ने इनके कब्जे से तीन पिस्तौल और सात जिंदा कारतूस भी बरामद किए थे. स्पेशल सेल ने एक गुप्त सूचना के बाद दिल्ली में एक बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश करते हुए तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था तीनों आरोपी खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट से जुड़े हुए हैं. गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान दिल्ली निवासी मोहिंदर पाल सिंह (29), पंजाब निवासी गुरतेज सिंह (41) और हरियाणा के रहने वाले लवप्रीत (21) के रूप में हुई थी.

खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के आतंकी दिल्ली और आसपास के इलाकों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देना चाहते हैं. इसके बाद स्पेशल सेल ने समय रहते कार्रवाई कर तीनों को दबोच लिया. इन तीनों के मोबाइल फोन से खालिस्तान मूवमेंट से संबंधित फोटो और कई भड़काऊ वीडियो भी बरामद किए गए थे. 15 जून को हस्तसाल के पास से मोहिंदर को गिरफ्तार कर लिया गया था.

मोहिंदर से पूछताछ के बाद हरियाणा के कैथल जिले से लवप्रीत को गिरफ्तार किया गया. इसके बाद में पंजाब के मनसा में से गुरतेज को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने दावा किया था कि ये लोग विदेशों में बैठे अपने आकाओं और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देना चाहते थे. पुलिस यह भी पता लगाने में जुटी है कि पकड़े गए आतंकियों से इनके क्या तार जुड़े है.

Source :Agency news