ALL लेख
दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से एक मीटर नीचे
August 25, 2020 • Anil Kumar

नई दिल्ली / मानसून सीजन और पहाड़ों पर हो रही भारी बारिश का असर अब दिल्ली में यमुना नदी में दिखने लगा है। बारिश का पानी हरियाणा बैराज तक पहुंचता है तो पानी का दवाब बढ़ने लगता है, और बैराज के गेट खोल दिए जाते है। जिसके कारण यमुना का जलस्तर बढ़ जाता है। दिल्ली में बाढ़ ( Flood situation in Delhi )की स्थिति बन जाती है। निचले हिस्से में पानी भर जाता है और यहाँ का जनजीवन प्रभावित होता है। दिल्ली के जल मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया कि सोमवार की सुबह 8 बजे हथनी बैराज से 5,883 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था।

  यमुना खतरे के निशान से एक मीटर नीचे बह रही है खतरे का निशान 205 . 33 मीटर है। जबकि जल स्तर सोमवार को सुबह 8 बजे , 204.18 मीटर तक पहुँच गया है। जबकि दोपहर साढ़े 3 बजे जल स्तर 204. 32 मीटर तक पहुँच गया था।

  दिल्ली के जल मंत्री श्री जैन ने कहा कि सरकार स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है और यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही है कि किसी भी तरह की बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यकताओं को पूरा किया जाए।हमारे पास बाढ़-नियंत्रण प्रणाली तैयार है, और यह तब सक्रिय होगा जब कोई भी स्थिति इसकी मांग करेगी। मंत्री ने बताया कि सरकार ने और यह तब सक्रिय होगा जब कोई भी स्थिति इसकी मांग करेगी। मंत्री ने बताया कि सरकार ने यमुना के किनारे के सभी निचले इलाकों में, पल्ला गाँव से ओखला तक एक योजना बनाई।

Source :Agency news