ALL लेख
गुपचुप मुंबई पहुंचे NCB बॉस, ड्रग्स लेने वाले बॉलीवुड के कई सितारों पर ऐक्शन की तैयारी
October 23, 2020 • Anil Kumar

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के डायरेक्टर जनरल राकेश अस्थाना मुंबई के गुपचुप दौरे के बाद शुक्रवार को दिल्ली लौट आए। इस मामले से जुड़े लोगों के मुताबिक, जून में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद शुरू हुई ड्रग तस्करी की जांच केस की समीक्षा के लिए अस्थाना मुंबई पहुंचे थे। अस्थाना रातभर के लिए मुंबई ऐसे समय में पहुंचे जब एनसीबी की ओर से बड़े ऐक्शन की तैयारी चल रही है, जिसमें बॉलीवुड के कई बड़े सितारे और ड्रग तस्करों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

अधिक ब्योरा देने से इनकार करते हुए एक वरिष्ठ अधिकारी ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, ''आप अगले दो सप्ताह में ऐक्शन की उम्मीद कर सकते हैं।'' एनसीबी ने इस केस में पहले ही 20 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें रिया चक्रवर्ती भी शामिल हैं, जिन्हें करीब एक महीने तक जेल में बिताने के बाद हाल ही में जमानत पर रिहा किया गया है। मुंबई हाईकोर्ट ने यह कहते हुए उनके भाई शौविक चक्रवर्ती को जमानत नहीं दी कि वह ड्रग डीलर्स के बीच चेन की अहम कड़ी है।

रिया चक्रवर्ती के जेल से बाहर आने से पहले ही एनसीबी ने जांच का दायरा दूसरे सितारों तक बढ़ाने का फैसला कर लिया था। अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह, फैशन डिजाइनर सिमोन खामबत्ता और सेलिब्रेटी मैनेजर श्रुति मोदी से पिछले महीने पूछताछ हो चुकी है।

अधिकारी ने कहा, ''जांच में आगे की हलचल हो रही है, बॉलीवुड की ओर से डिमांग और सप्लाई साइड की ओर से पड़ताल चल रही है। अधिकारी ने बताया कि ऐसे लोग हैं जो फिल्म इंडस्ट्री में भी काम करते हैं और ड्रग रैकेट में भी शामिल हैं। सप्लाई साइड में एनसीबी ने केरल के कासरागोड में एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है जो बॉलीवुड केसों से जुड़ा हुआ है और मुंबई में मुख्य नारकोटिक्स आपूर्तिकर्ताओं की तलाश में जुटा है। 

अधिकतर समय एक से दूसरे मीटिंग में बिताने वाले अस्थाना को बताया गया कि जांचकर्ता यह स्थापित करने में कामयाब रहे हैं कि हेरोइन और ऐम्फेटमीन अफगानिस्तान-पाकिस्तान चैनल या मोजाबिक-मालदीव-श्रीलंका रूट से मुंबई पहुंच रहे हैं। कोकीन साउथ अमेरिका से साउथ अप्रीया या दूसरे अफ्रीक्री देशों से आ रहा है। एनसीबी ने पहले ही अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और साउथ अफ्रीका जैसे देशों में अपने समकक्षों से संपर्क साध लिया है ताकि तस्करी के मामलों में ऐक्शन लिया जा सके।

Source:Hindustan Samachar