ALL लेख
हाथ,पैर,मुंह बांध कर, पति-पत्नी और बेटे को जिंदा जलाया
August 31, 2020 • Anil Kumar

आगरा / एत्मादुद्दौला में सोमवार सुबह तिहरे हत्याकांड की खबर है। बताया गया कि फाउंड्री नगर क्षेत्र स्थित नगला किशनलाल में एक परिवार को जिंदा जलाकर मारा गया है। सुबह एक परिवार के तीन सदस्यों की जली हुई लाश उनके घर में मिली जिससे अंदाजा लगाया गया कि रविवार की रात में पति-पत्नी और बेटे को जिंदा जलाकर हत्या की गई है। सोमवार सुबह घर में दो कमरों में तीनों की लाशें जली हुई मिलीं,आगरा में तिहरे हत्याकांड से दहशत फैल गई है। एक परिवार के तीन लोगों को जिंदा जलाने की खबर है,एत्मादुद्दौला के नगला किशनलाल की घटना है जहां पति-पत्नी और बेटे को जिंदा जलाया गया है। तीनों के हाथ,पैर और मुंह टेप से बंधे मिले हैं। 55 वर्षीय रामवीर अपनी पत्नी मीरा और 25 वर्षीय बेटे बबलू के साथ किशनलाल में रहता था। सोमवार सुबह छह बजे दूध वाला उनके घर दूध लेकर आया और आवाज दी,लेकिन कई आवाजों के बाद घर में से कोई नहीं निकला तो उसे कुछ अजीब लगा। साथ ही उसने देखा की घर के बाहर की दुकान भी नहीं खुली थी। ये दुकान बबलू की थी जो रोज सुबह साढ़ें पांच बजे खुल जाती थी। दूध वाले ने पड़ोस में रहले वाले रामवीर के भाई को आवाज लगाई और बताया कि कई आवाज देने पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला है और बबलू की दुकान भी नहीं खुली है। इसपर बबलू की चाची सुमन उनके घर के अंदर देखते गई तो उसने तीनों के जले हुए शव देखे। तीनों के हाथ पैर और मुंह टेप से बंधे मिले,उसने सभी को आवाज लगाई। घर में और बाहर भीड़ जमा हो गई। उसने बताया कि घर में दो कमरों में लाशें पड़ी थीं। एक कमरे में मीरा और उसके बेटे बबलू तथा दूसरे कमरे में रामवीर की जली हुई लाश पड़ी थी। इसकी सूचना पुलिस को दी गई, एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद मौके पर पहुंच गए और छानबीन शुरू की। वहीं रामवीर के भाई-भाभी और रिश्तेदारों ने बताया कि किसी तरह की कोई रंजिश नहीं थी। दूसरी ओर पुलिस जांच कर रही है कि रात को घर में आग लगी होती तो पड़ोसियों को पता चला होता। पड़ोसियों का कहना है कि किसी ने कोई चीख तक नहीं सुनी थी।

Source :Agency news