ALL लेख
किशोर का छलका दर्द। अध्यक्ष से नाराज दिखे पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष
August 27, 2020 • Anil Kumar

रिपोर्ट- सतपाल धानिया 

विकासनगर / विधानसभा चुनाव नजदीक आते हीं राजनैतिक पार्टियो मे खलबली मचनी शुरू हो चुकी हैं। सभी राजनैतिक दलो के नेता अपनी खोई जमीन तलाशने मे जुट गए हैं। इसी क्रम मे आज उत्तराखंड कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने सहसपुर विधानसभा मे एक प्रेसवार्ता क़ा आयोजन किया। इस दौरान पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने त्रिवेन्द्र सरकार क़ो आड़े हाथो लिया औऱ प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे। क़हा कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही हैं। कोविड के दौरान प्रदेश मे हालात बदतर हो गए हैं। लेकिन प्रदेश सरकार क़ो कोई चिंता नहीं हैं। बेरोजगारी से प्रदेश के युवाओ क़ा बुरा हाल हैं। लेकिन सरकार सत्ता के नशे मे चूर।

किशोर ने क़हा कि, प्रदेश मे युवक बेरोजगारी से तंग आकर आत्महत्या कर रहे हैं लेकिन सरकार रोजगारों क़ा सृजन नहीं कर पा रही है, प्रदेश मे कोविड काल मे 60 से अधिक युवाओ ने आत्महत्या की हैं। जिसपर उन्होंने गहरी चिंता व्यक्त की हैं औऱ इसका जिम्मेदार प्रदेश सरकार क़ो ठहराया है। साथ हीं उन्होंने अपनी पार्टी क़ो भी आड़े हाथो लिया है। इस दौरान उनका दर्द छलक पड़ा औऱ जिन व्यक्तियों की वजह से 2017 विधानसभा चुनाव मे कई सीटो पर पार्टी क़ो हार क़ा सामना करना पड़ा उन्हें पार्टी मे अहम पद नवाजे जाने से उन्हें आघात पहुंचा है औऱ उनकी भावनाएं आहत होती दिखाई दी है।

इस दौरान उन्होंने क़हा कि पुराने कांग्रेसी नेताओ की पार्टी मे अनदेखी की जा रही है। अगर 2022 के विधानसभा चुनाव मे ऐसे व्यक्तियों क़ो टिकट दिया गया तो पार्टी क़ो नुकसान उठाना पड़ेगा। साथ हीं क़हा कि सहसपुर विधानसभा मे स्थानीय प्रत्याशी क़ो कंग्रेस पार्टी द्बारा टिकट दिया जाए। पैराशूट प्रत्याशी क़ो टिकट दिया गया तो पार्टी मे बगावत हो सकती है औऱ सहसपुर विधानसभा सीट एक बार फ़िर कांग्रेस के हाथ से निकल सकती है तो वही इशारो-इशारो मे उन्होंने पार्टी अध्यक्ष से नाराजगी भी जाहिर की है।

Source :Hastakshep