ALL लेख
कोरोना की दस्तक के सात माह पूरे, देहरादून में नहीं थमा रहा कोरोना वायरस का कहर
October 16, 2020 • Anil Kumar

कोरोना की दस्तक के सात माह पूरे होने के बाद भी देहरादून जनपद में वायरस का कहर थमा नहीं है। पिछले कुछ दिनों से नए मामले कम संख्या में मिलने से कुछ राहत जरूर है पर बढ़ती मृत्यु दर चिंता का सबब बनी हुई है।

 

देहरादून / कोरोना की दस्तक के सात माह पूरे होने के बाद भी देहरादून जनपद में वायरस का कहर थमा नहीं है। पिछले कुछ दिनों से नए मामले कम संख्या में मिलने से कुछ राहत जरूर है, पर बढ़ती मृत्यु दर चिंता का सबब बनी हुई है। गुरुवार को भी जिले में 150 और लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिसके बाद मरीजों की कुल संख्या 15644 पर पहुंच गई है। जिनमें 13409 लोग स्वस्थ हो गए हैं और 1693 उपचाराधीन हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या घटने से अस्पतालों का बोझ भी कुछ हद तक कम हुआ है।

दून में बीती 15 मार्च को कोरोना की दस्तक हुई थी। शैक्षिणक टूर से विदेश से लौटा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन सेवा अकादमी का प्रशिक्षु आइएफएस कोरोना संक्रमित मिला था। इसके बाद हर अंतराल पर कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते गए। अनलॉक में कोरोना वायरस ने जमकर कहर बरपाया। इस दौरान कम्युनिटी स्तर पर भी संक्रमण के कई मामले मिले। आम ही नहीं, बल्कि खास भी संक्रमित होने से बच नहीं पाए। राजभवन व सचिवालय से लेकर सीएम कार्यालय, कलक्ट्रेट, नगर निगम, बैंक और सरकारी दफ्तरों में भी कई अधिकारी व कर्मचारी संक्रमित मिले। यही नहीं, सेना और अर्धसैनिक बलों के अभेद किले को भी कोरोना से भेद दिया। वहीं चिकित्सक, नर्सें व अन्य स्वास्थ्य कर्मी और पुलिसकर्मी भी वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

 

कोरोना दस्तक के आठवें माह में भी कई चुनौतियां खड़ी हैं। एक तरफ अनलॉक-5 में सभी पाबंदियां हटा दी गई हैं, वहीं त्योहारी सीजन भी शुरू होने जा रहा है। दशहरा, दुर्गा पूजा, दिवाली, क्रिसमस आने वाले दिनों में त्योहारों की भरमार है। ऐसे में बाजारों में भीड़ बढ़ने से संक्रमण के प्रसार को रोकना आसान नहीं होगा। खासतौर से केरल और महाराष्ट्र में त्योहारों के बाद कोरोना के आंकड़ों ने चिंता बढ़ा दी है। इसके अलावा ठंड का मौसम भी करीब है। वायरस ठंडे मौसम और कम आर्द्रता वाली स्थितियों में ज्यादा खतरनाक हो सकता है। ऐसे में बहुत ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है।

आठ कंटेनमेंट जोन समाप्त, 41 शेष

गुरुवार को दून में एक साथ आठ कंटेनमेंट जोन समाप्त किए गए। अब जिले में कंटेनमेंट जोन की कुल संख्या 41 रह गई है। जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव के आदेश के मुताबिक, ग्राम कारगी चांचक रोड निकट डॉ. बंगाली, ग्राम आरकेडियाग्रांट के माजरा श्यामपुर, आइएचएम गढ़ी कैंट, लोअर नेहरूग्राम निकट नेहरूग्राम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, केशव रोड लक्ष्मण चौक, 232 गढ़ी कैंट, सचिवालय कॉलोनी केदारपुरम, 87 नई बस्ती नदी रिस्पना वर्कशाप में बनाए गए कंटेनमेंट जोन को समाप्त किया गया। यहां कोरोना के नए मामले सामने न आने के बाद पाबंदी समाप्त करने की कार्रवाई की गई है।

Source:Agency News