ALL लेख
मंदिर की जमीन के विवाद में पुजारी को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, सीएम बोले-दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा
October 9, 2020 • Anil Kumar

राजस्थान के करौली में एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है। पुजारी पर पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश की गई, वहीं इलाज के दौरान अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन इस मामले पर अब राजनीति शुरू हो गई है।


एसपी मृदुला कछवा के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई। पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक दोनों पक्षों में मंदिर जमीन को लेकर विवाद था। पुलिस के मुताबिक पुजारी बाबूलाल वैष्णव ने बताया कि मेरा परिवार 15 बीघा मंदिर की जमीन पर खेती करता था। इस पर आरोपी कैलाश, शंकर और नमो मीणा ने कब्जा कर लिया।
पूरे मामले में पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाकर आरोपियों की तलाश शुरू की और जल्द से जल्द उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। वहीं पुलिस टीम ने 24 घंटे में मुख्य आरोपी कैलाश मीणा निवासी बूकना थाना सपोटरा को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश अभी भी जारी है।

हालांकि सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस मामले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि सपोटरा, करौली में बाबूलाल वैष्णव जी की हत्या अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है,सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है।प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है। घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और कार्रवाई जारी है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

Source:Agency News