ALL लेख
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र आज सपरिवार पहुँचे हरिद्वार। जूना अखाड़े के आचार्य से मुलाकात व सफारी ट्रेक का किया निरीक्षण
October 12, 2020 • Anil Kumar

रिपोर्ट- वंदना गुप्ता

हरिद्वार / मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज परिवार के साथ हरिद्वार पहुंचे जहां उन्होंने परिवार के साथ जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी महाराज से मुलाकात की। मुख्यमंत्री हरिद्वार पहुंचने से पहले सुबह राजाजी टाइगर रिजर्व की चीला रेंज भी गए। जहां उन्होंने पर्यटकों के लिए बनाए जा रहे सफारी ट्रेक का निरीक्षण भी किया और साथ ही चीला में राजाजी के पालतू हाथियों को फल भी खिलाये। हरिद्वार पहुंचे मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वामित्व योजना के पायलट फेज के तहत संवाद कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा भी भाग लिया।

 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत का कहना है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना का लोकार्पण किया। मुझे भी इसमें सम्मिलित होना था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांव के विकास के लिए शुरू से ही जो कार्य किए हैं उसके लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद करता हूं। आज गांव के विकास के लिए जो स्वामित्व योजना शुरू की है, इससे किसान और गरीब लोगों को अपनी संपत्ति का प्रमाण पत्र दिया गया है। अब वो इस संपत्ति के माध्यम से बैंकों से ऋण भी ले सकते हैं। गांव की सड़कें और तालाब के दायरे भी सुनिश्चित हो जायेगे। जो संपत्ति को लेकर विवाद होते थे, वह भी सभी समाप्त हो जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बहुत ही अच्छी शुरुआत की है।

 

हरिद्वार में लगने वाले आगामी कुम्भ को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि कुम्भ हमारी परंपराओं और संस्कृति से जुड़ा हुआ है। कोरोना महामारी की वजह से प्रास्थिति परिवर्तन हो रही है और काफी सुधार हो रहा है। लेकिन ऐसी भी भविष्यवाणियां हो रही है। इसलिए जब कोई चीज विपरीत होती है उसके लिए एकदम से निर्णय लेकर बदलना पड़े ऐसा नहीं करना चाहिए। इसलिए जो भी निर्णय लेना है वो अखाड़ा परिषद के साधु संतो के साथ विचार विमर्श करके लिया जाएगा।

 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज अपने परिवार के साथ हरिद्वार दौरे पर रहे। जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ संवाद कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा भाग लिया तो वहीं अपने पूरे परिवार के साथ जूना अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी महाराज से मुलाकात की और राजाजी टाइगर रिजर्व की चीला रेंज भी गए। जहां उन्होंने पर्यटकों के लिए बनाए जा रहे सफारी ट्रेक का निरीक्षण भी किया।

Source : Bright post news