ALL लेख
पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर बीजेपी कार्यकर्ताओं से पीएम मोदी का संवाद
September 25, 2020 • Anil Kumar

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे जिन साथियों ने अपनी जीवन लीला समाज की सेवा करते-करते समाप्त की है, मैं आज उन सभी दिवंगत साथियों को आदरपूर्वक अंजली देता हूं। मैं भाजपा के हर कार्यकर्ताओं को उनके सेवाभाव व परिश्रम के लिए आदरपूर्वक नमन करता हूं।

 

भारतीय जनसंघ के जनक रहे पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के मौके पर आज पीएम नरेंद्र मोदी पर पार्टी कार्यकार्ताओं को संबोधित किया। पीएम मोदी ने देशभर में फैले भाजपा के कर्मठ कार्यकर्ताओं को श्रद्धेय दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती पर शुभकामनाएं दी। उन्होंने जो हमें मार्ग दिखाया है, उस रास्ते पर हम  पूरे समर्पित भाव से हम आगे बढ़ पाएं। आप सभी सामन्य जन की सुरक्षा और सेवा के लिए समर्पित भाव से कार्यकर्ता निरंतर काम कर रहे हैं। कोरोना की चुनौतियों के बीच भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी इस सेवा साधना को बिना रुके, बिना थके जारी रखा है। इसमें हमारे कई कार्यकर्ताओं को अपना जीवन भी खोना पड़ा है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे जिन साथियों ने अपनी जीवन लीला समाज की सेवा करते-करते समाप्त की है, मैं आज उन सभी दिवंगत साथियों को आदरपूर्वक अंजली देता हूं। मैं भाजपा के हर कार्यकर्ताओं को उनके सेवाभाव व परिश्रम के लिए आदरपूर्वक नमन करता हूं। ये हमारे लिए एक प्रेरणा बनी रहेगी। मैं सभी कार्यकर्ताओं और उनके परिवार के उत्तम स्वास्थ्य की कामना करता हूं। 21वीं सदी के भारत को विश्व पटल पर नई ऊंचाई देने के लिए, 130 करोड़ से अधिक भारतीयों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए, आज जो कुछ भी हो रहा है, उसमें दीन दयाल जी जैसे महान व्यक्तित्वों का बहुत बड़ा आशीर्वाद है। किसान और श्रमिक के नाम पर देश में, राज्यों में अनेकों बार सरकारें बनीं लेकिन उन्हें मिला क्या? सिर्फ वादों और कानूनों का एक उलझा हुआ जाल। एक ऐसा जाल, जिसको ना तो किसान समझ पाता था और ना ही श्रमिक। पीएम ने कहा कि किसानों को ऐसे कानूनों में उलझाकर रखा गया, जिसके कारण वो अपनी ही  उपज को, अपने मन मुताबिक बेच भी नहीं सकता था। नतीजा ये हुआ कि उपज बढ़ने के बावजूद किसानों की आमदनी उतनी नहीं बढ़ी। हां, उन पर कर्ज जरूर बढ़ता गया।

Source: Agency news