ALL लेख
पंजाब: मालगाड़ियां रुकने से जालंधर में उद्योगों को 3,000 करोड़ का हुआ नुकसान
November 2, 2020 • Anil Kumar

जालंधर /  केंद्र सरकार की तरफ से अनिश्चितकाल समय के लिए पंजाब में मालगाड़ियां रद्द करने के साथ जालंधर में उद्योगों को 3000 करोड़ रुपए का बड़ा नुक्सान हो रहा है क्योंकि इसके साथ माल की निर्यात और आयात प्रक्रिया पूरी तरह से ठप्प हुई पड़ी है।

पिछले डेढ़ महीने से तैयार माल और कच्चे माल का अदान प्रदान बिल्कुल बंद होने के कारण स्थानिय उद्योगपतियों को तैयार माल स्पलाई करने से सम्बन्धित मिले आर्डर भी रद्द हो रहे हैं। उद्योग और व्यापार संस्थायों के एक प्रवक्ता ने बताया कि 29 अक्तूबर को पंजाब के उद्योग और वाणिज्य मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की तरफ से अनेकों औद्योगिक संस्थायों के साथ मीटिंग करके बताया कि प्रदेश सरकार को कोविड -19 महामारी कारण पहले ही बहुत आर्थिक नुक्सान का सामना करना पड़ रहा है और अब पंजाब में मालगाड़ियाँ बंद होने से 3000 करोड़ रुपए के तैयार माल की स्पलाई बिल्कुल ठप्प पड़ी है।

उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों की तरफ से राज्य में मालगाड़ियां चलाने की आज्ञा देने के बावजूद केंद्र सरकार की तरफ से मालगाड़ियों की अवाजाही बंद रखना बहुत ही हैरानी वाला फ़ैसला है। उन्होंने आगे बताया कि अब माल समय पर निर्यात न करने की वजह से व्यापारियों को पहले से मिले हुए आर्डर रद्द हो रहे हैं और वह दूसरे क्षेत्रों से माल मंगवा रहे हैं। व्यापारी नेता ने कहा कि इसके साथ तो उनका व्यापार पूरी तरह तबाह हो जायेगा।

Source :Agency news