ALL लेख
फीस मामले में मुख्य शिक्षा अधिकारी करेंगे दो पब्लिक स्कूलों की जांच। बाल संरक्षण आयोग ने दिए निर्देश
August 21, 2020 • Anil Kumar

देहरादून /  दून पब्लिक स्कूल भानियावाला देहरादून एवं माउंट लिट्रा जी स्कूल भानियावाला देहरादून के खिलाफ वरिष्ठ समाजसेवी योगेश राघव के द्वारा दिये गये एक शिकायती पत्र के आधार पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष उषा नेगी ने दोनों स्कूलों के विरुद्ध मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून को एक नोटिस जारी करते हुए निर्देश दिए हैं कि वह दोनों के विरुद्ध जाँच करते हुए 15 दिन के भीतर कृत कार्रवाई की जाँच रिपोट आयोग को प्रेषित करे।

योगेश राघव ने बताया कि स्कूल ऑनलाइन पढ़ाई कराने के नाम पर वाट्सएप पर फोटो खींच कर बच्चों को भेजने का कार्य कर रहा है। इस तरह की ऑनलाइन पढ़ाई से अभिभावक असन्तुष्ट है और अभिभावकों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ बहुत ही रोष है। जिसके एवज में स्कूल अभिभावकों को फीस जमा करने का दबाव बना रहे हैं।

समाजसेवी योगेश राघव ने एक शिकायत पत्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग उत्तराखंड की अध्यक्षा को ईमेल के माध्यम से भेजा, अध्यक्ष उषा नेगी ने इस शिकायती पत्र को गम्भीरता से लेते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून को एक नोटिस जारी करते हुए निर्देश दिए हैं कि 15 दिन के भीतर कृत कार्रवाई की जांच की रिपोर्ट मांगी है।

योगेश राघव ने बताया कि इसके लिए सुरेन्द्र भंडारी, मीनू शुक्ला, ममता, आरके शर्मा, सुनील नेगी, नरेन्द्र सजवाण, शैलेन्द्र नेगी, पूनम चौहान, लक्ष्मी रावत, विनय रावत, उदय धनोला, राजेन्द्र नेगी, सुशान्त अग्रवाल, रंजनी नेगी, पूजा रावत, शिप्रा श्रीवास्तव, बलवीर सिंह आदि अभिभावकों ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्षा उषा नेगी जी का आभार व्यक्त किया है।

Source :Agency news