ALL लेख
प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों ने लौटा दिए फ्लैट
November 3, 2020 • Anil Kumar

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एमडीडीए की ओर से तरला आमवाला में मनाए गए फ्लैट के लाभार्थियों में से कुछ ने इन्हें लेने से हाथ खड़े करने के साथ ही एमडीडीए से अपना पैसा भी वापस ले लिया है।  नगर निगम की ओर से तरला आमवाला में प्रस्तावित आवास योजना के लिए लाभार्थी की सूची एमडीडीए की भेजी गई थी।

इसके आधार पर प्राधिकरण की ओर से तरला आमवाला में 240 फ्लैट बनाए गए। यह फ्लैट पिछले साल बनकर तैयार हो गए थे। पिछले साल ही फ्लैटों को लेकर नगर निगम में लॉटरी कर आवंटन कर दिया गया था। बस एमडीडीए की ओर से लाभार्थियों को चाबी दी जानी थी।

इसी बीच कोरोना के चलते लॉकडाउन हो गया। ऐसे में फ्लैट को पूरी तरह से आवंटित करने का मामला ठंडे बस्ते में चला गया। कोरोना के बीच कुछ लोगों ने फ्लैट लेने से मना कर दिया। इन लोगों ने एमडीडीए में जमा पैसे भी वापस ले लिए। इस दौरान 240 लाभार्थियों में से 37 ने अपना पैसा वापस लिया।  

ऐसे में 203 लाभार्थी रह गए। इसके बाद लाभार्थियों की वेटिंग सूची में शामिल 48 लोगों को मुख्य सूची में शामिल किया गया। इसमें से भी 25 लोगों ने फ्लैट लेने से मना कर दिया और अपने पैसे वापस ले लिए। ऐसे में अब 240 लाभार्थियों में से फ्लैट लेने के लिए मात्र 228 रह गए हैं।

इसके चलते अभी भी 12  फ्लैट के लिए लाभार्थी चाहिए। बताया गया है कि कोरोनाकाल के चलते  आर्थिक संकट से कुछ लोगों ने फ्लैट लेने से मना कर दिया और अपने पैसे वापस ले लिए। वहीं फ्लैट के आवंटन में हुई देरी का कारण भी माना जा रहा है।

साथ ही एक कारण यह भी है कि फ्लैट में छोटे-छोटे कमरे हैं और जिन लोगों के बड़े परिवार थे। उन्होंने छोटे कमरों को देखते हुए फ्लैट लेने का फैसला निरस्त कर दिया। 

ये है फ्लैट की कीमत
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीब तबके के लिए फ्लैट की कीमत छह लाख हैं। लेकिन इन छह लाख में से केंद्र सरकार की ओर से डेढ़ लाख रुपये और राज्य सरकार की ओर से एक लाख की सब्सिडी दी जानी है। इसके चलते जरूरतमंद को फ्लैट साढ़े तीन लाख में मिलना है। इसके लिए शर्त यह है कि लाभार्थी की वार्षिक आय तीन लाख से ऊपर नहीं होनी चाहिए। 

नगर निगम की ओर से लाभार्थियों की सूची एमडीडीए को एक साल पहले भेज दी गई थी। क्योंकि फ्लैट का निर्माण एमडीडीए की ओर से किया गया है। अंतिम आवंटन एमडीडीए की ओर से ही किया जाना है। 
विनय शंकर पांडेय, नगर आयुक्त 

नगर निगम की ओर से 230 लाभार्थियों की सूची दी हुई है। तरला आमवाला में फ्लैट बनकर तैयार होने के बाद फ्लैटों में कुछ काम होना बाकी था। जिसे पूरा किया जा रहा है। एक सप्ताह बाद फ्लैट आवंटन की अंतिम प्रक्रिया शुरू की जाएगी।  


रणवीर सिंह चौहान, वीसी एमडीडीए 

Source:Hindustan Samachar

 

  •