ALL लेख
साइबर क्राइम पर वेबिनार में वक्ताओं ने कहां साइबर अपराध हर वर्ग को करता है प्रभावित
August 8, 2020 • Anil Kumar

हरिद्वार /  भारतीय जागरूकता समिति ने हरिद्वार पुलिस के साथ साइबर क्राइम एम् महिला सुरक्षा पर वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमे न्यायाधीश परिवार न्यायालय हरिद्वार योगेश कुमार गुप्ता, एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस, श्रीमती कमलेश उपध्याए एस पी सिटी हरिद्वार, एस पी देहात स्वपन किशोर सिंह एम् हाई कोर्ट के अधिवक्ता ललित मिगलानी शामिल हुए। जिन्होंने साइबर क्राइम के सभी महत्वपूर्ण पहलू पर चर्चा की। 

न्यायधीश परिवार न्यायालय योगेश कुमार ने बताया साइबर क्राइम एक प्रकार का गंभीर अपराध है इस में कंप्यूटर, इंटरनेट, डिजिटल डिवाइसेज, वर्ल्ड वाइड वेब आदि के जरिए किए जाने वाले अपराधों के लिए छोटे-मोटे जुर्माने से लेकर उम्र कैद तक की सजा दी जा सकती है। दुनिया भर में रक्षा और जांच एजेंसियां साइबर अपराधों को बहुत गंभीरता से ले रही हैं। ऐसे मामलों में सूचना तकनीक कानून 2000 और सूचना तकनीक (संशोधन) कानून 2008 तो लागू होते ही हैं। योगेश जी ने बताया अगर कोई व्यक्ति किसी महिला की फोटो का दुरूपयोग कर सोशल साईट पर बिना महिला की अनुमति के डालता है तो वो साइबर अपराध की श्रेणी में आता है जो एक गंभीर अपराध है । 

एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस ने वेबिनार में कहा साइबर अपराध एक गंभीर अपराध है और कानून में काफी कठोर सजा का प्रावधान हैI साइबर अपराध हर वर्ग को प्रबावित करता है समाज का कोई भी वर्ग इससे अछुता नहीं है समाज में ये एक चुनोती के रूप में आया है और हरिद्वार पुलिस हर चुनोती से लड़ने के लिए तत्पर है I समाज की सतर्कता हरिद्वार पुलिस की ताकत है समाज के सहयोग से हरिद्वार पुलिस हर अपराध को रोकने के लिए तैयार हैI  

कमेलश उपाध्य एस पी सिटी हरिद्वार ने कहा समाज में कई असामाजिक तत्व है जो महिलाओ को साइबर क्राइम के मध्य से ब्लैक मेल करते है लेकिन महिला डर के कारण किसी को न बताकर समाज में अपराध को बढ़ावा देते है महिलाओ निसंकोच आकर पुलिस की मदद लेनी चाहिये पुलिस उनकी मदद करने के लिए तत्पर तैयार है ।  

हाई कोर्ट के अधिवक्ता ललित मिगलानी ने बतया साइबर क्राइम में कानून ऐसे मामलो में काफी सख्त है कानून में इस प्रकार के अपराधो को रोकने के लिए कड़े नियमो का उल्लेख है अगर कोई व्यक्ति हैकिंग करता है तो कानून में आईटी (संशोधन) एक्ट 2008 की धारा 43 (ए), धारा 66 – आईपीसी की धारा 379 और 406 के तहत कार्रवाई मुमकिन सजा: अपराध साबित होने पर तीन साल तक की जेल और/या पांच लाख रुपये तक जुर्माना।

कोई व्यक्ति डेटा चोरी करता है तो आईटी (संशोधन) कानून 2008 की धारा 43 (बी), धारा 66 (ई), 67 (सी) – आईपीसी की धारा 379, 405, 420 – कॉपीराइट कानून सजा: अपराध की गंभीरता के हिसाब से तीन साल तक की जेल और/या दो लाख रुपये तक जुर्माने का प्रावधान हैI 

कोई व्यक्ति वायरस स्पाईवेयर फैलता है तो आईटी (संशोधन) एक्ट 2008 की धारा 43 (सी), धारा 66 एम् आईपीसी की धारा 268 के अंतर्गत अपराधी होगी ।  

देश की सुरक्षा को खतरा पहुंचाने के लिए फैलाए गए वायरसों पर साइबर

आतंकवाद से जुड़ी धारा 66 (एफ) भी लागू (गैर-जमानती)। सजा : साइबर-वॉर और साइबर आतंकवाद से जुड़े मामलों में उम्र कैद। दूसरे मामलों में तीन साल तक की जेल और/या जुर्माना।

 

विजेंद्र पालीवाल एम् नितिन गौतम ने कहा कि साइबर क्राइम ने हमारे समाज को काफी प्रभावित किया है। समाज का हर वर्ग इस से प्रभावित हुआ है हमें काफी सावधानी से अपने चीजो का इस्तेमान करना चाहिये ।  

समाजसेवी आशु चौधरी एम् विनायक गौड़ ने कहा कि दुनियाभर में साइबर क्राइम के लिये जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। भारत में भी इसके खिलाफ सख्त कानून बने हैं। शिवानी गौड़ ने कहा कि सामाजिक सशक्तिकरण और समाज को साइबर क्राइम के मुक्त करने के लिए और भी सख्त कदम उठाने की जरूरत है।भारतीय जागरूकता समिति के उपाध्यक्ष नितिन गौतन एम् आशु चौधरी ने बताया की समाज में साइबर क्राइम एक विकराल रूप ले रहा है जिसमे समाज का हर वर्ग प्रभावित हो रहा हैI इस लिये समाज में इसके बारे में जागरूक करना अति आवश्यक है ।  

वेबिनर का संचालन शिवानी गौड़ एम् विनायक गौड़ द्वारा किया गया वेबिनार में डॉ सुनील बत्रा, संदीप खन्ना, अंजलि महेश्वरी, आशु चौधरी, नितिन गौतम, यश लालवानी, अनिता वर्मा, सीमा पटेल, अंशु चौधरी, अर्चना शर्मा, विनीता गोनीयल, रीता चमोली विनीत चौहान, शुभम, सिधार्थ परधान, विजेंद्र पालीवाल, अर्पिता सक्सेना, अंशु तोमर, उपासना चौहान, दीपाली शर्मा, अर्चना लोहनी, पुनम भाजपाई, डॉ अनुराधा, हिमांशु चोपड़ा, मोहित भरद्वाज, वर्षा श्रीवास्तव, पी.के श्रीवास्तव, भूपेश चन्द्र पांडे, सपना अग्रवाल, विपुल कुमार गोय, कमल कुरुक्षेत्र, पंडित विशाल शर्मा, मधुसुधन अग्रवाल, नेहा मलिक, करुणा शर्मा, नीरू जैन, मंजुला भगत, दीपाली जैन, गरिमा कुमार, रूपम जोहरी, योगी रजनीश, रानी, पंकज, ममता, चंद्रकला आदि प्रतिभाग किया और सबका धन्यवाद किया गया ।

Source :Agency news