ALL लेख
सतपाल महाराज ने सतपुली में रखी परंपरागत शैली के पहले टीआरएच की आधारशिला
August 21, 2020 • Anil Kumar

सतपुली/ देहरादून। उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज ने आज सतपुली में पर्यटक आवास गृह एवं बहुउद्देशीय हाॅल का शिलान्यास किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए स्थानीय विधायक और प्रदेश के पर्यटन धर्मस्व, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री श्री सतपाल महाराज ने कहा कि 4.43 करोड़ की लागत से सतपुली में बनने वाला यह 40 बैड वाला टीआरएच उत्तराखंड का पहला ऐसा टीआरएच होगा जिसका

निर्माण पंरपरागत पहाड़ी शैली में होगा। निर्माण के लिए विभाग द्वारा 1.50 करोड़ रुपये अवमुक्त भी कर दिये गये हैं। उन्होने बताया कि निर्माण के दौरान तिबारी, डंड्याली, मोरी समेत सभी स्थापत्य कलाओं का समावेश किया जायेगा। पर्यटन मंत्री ने कहा कि सतपुली में बनने वाले इस 40 बेड वाले पर्यटक आवास गृह में विवाह एवं अन्य समारोह हेतु बहुपयोगी हॉल भी बनेगा। उन्होने ने कहा कि यह भवन पहाड़ी शैली का एक का नायाब नमूना होगा जो लगभग एक वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगा। श्री सतपाल महाराज ने कहा कि नयार घाटी में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए क्याकिंग, पैराग्लाइडिंग, एंगलिंग आदि शुरू की जा रही हैं। जिससे स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मुहैया होंगे। श्री महाराज ने कहा कि नयारघाटी को एडवेंचर टूरिज्म के मानचित्र पर लाने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। क्षेत्र में एडवेंचर टूरिज्म से जोड़कर पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। जो आने वाले समय में पर्यटन विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होंगे। इस मौके पर उपस्थित पर्यटन सचिव श्री दिलीप जावलकर ने कहा कि निर्माण के समय मा. मंत्री जी के दिशा निर्देशों के अनुसार ही कार्य किये जायेंगे। 

पर्यटक आवास गृह एवं बहुउद्देशीय हाॅल के शिलान्यास कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा मंडल अध्यक्ष श्री बृजमोहन रावत की, जबकि कार्यक्रम का संचालन राजेंद्र रावत ने किया।

इस मौके पर जीएमवीएन के उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंघल, एसडीएम अपर्णा ढौंढियाल, महाप्रबंधक जितेंद्र कुमार, सीएम के भाई बृजमोहन रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष संपत रावत, ग्राम प्रधान ओडल कुसुमलता देवी,

वेद प्रकाश वर्मा, अजय दिवाकर, कुशाल सिंह नेगी, विनोद घिल्ड़ियाल समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी और ग्रामीण मौजूद थे।

Source :gadhsamvedna