ALL लेख
सेक्स स्कैंडल अपडेट: सत्ता शराब और सेक्स, हल्द्वानी से नेपाल तक ले गया युवती को अपने साथ विधायक।
August 18, 2020 • Anil Kumar

विधायक महेश नेगी के खिलाफ प्रीति बिष्ट ने एसएसपी देहरादून को लिखित तहरीर देकर उचित कार्यवाही की मांग करी है। पिछले दिनों यह मामला उस समय सुर्खियों में आया था जब द्वाराहाट के विधायक महेश नेगी की बीवी ने प्रीति बिष्ट पर फिरौती माँगने का आरोप लगाया था जिसके बाद प्रीति बिष्ट भी खुलकर सामने आ गयी है 15 तारीख को एसएसपी को दिये पत्र में प्रीति ने विस्तार से अपने साथ हुए सत्त्ता, शराब और सेक्स की कहानी सुनाई है।

बताया जा रहा है कि साल 2016 में विधायक महेश नेगी और युवती की मुलाकात हुई। इन 4 साल में कई बार युवती का शारीरिक शोषण किया गया।

युवती ने तहरीर में विस्तार से विधायक के साथ अपने संबंधों का जिक्र किया है। उसका कहना है कि विधायक महेश नेगी ने नेपाल, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, नैनीताल, हल्द्वानी, देहरादून, व मसूरी के होटलों व रिसॉर्ट्स में कई बार बलात्कार किया।

द्वाराहाट में उसकी मां के इलाज को लेकर किस तरह विधायक नेगी ने डोरे डाले और बलात्कार किया, तहरीर में यह सब खुल कर लिखा है। शादी से दो दिन पहले 1 दिसंबर, 2018 को विधायक ने मसूरी के निकट कैम्पटी के एक होटल में शारीरिक संबंध बनाए और 3 दिसंबर को उसकी शादी हुई।

इस तहरीर में लिखा है कि शादी के बाद भी विधायक नेगी उसके साथ विभिन्न स्थानों पर मौज मस्ती करते रहे। 18 मई, 2020 को उसकी बेटी होने पर बीएसएफ में तैनात सब इंस्पेक्टर पति दीपक सिंघल ने शक के आधार पर डीएनए करवाया तो मिलान नही हुआ और यहीं से पूरी बात बिगड़ गई।

इसके बाद युवती अपने ससुराल वालों से अलग होकर देहरादून आ गयी। उसका यह भी कहना है कि देहरादून के सिनर्जी अस्पताल में स्वंय 27 जुलाई से 29 जुलाई तक विधायक ने उनका इलाज करवाया। हालांकि, तहरीर पढ़ने से इस मामले में कई पेंच भी नजर आते है।

वहीं, अब युवती का कहना है कि उसकी बेटी का पिता विधायक महेश नेगी है। उसने विधायक की पत्नी रीता नेगी पर भी 5 लाख रुपये देकर खरीदने की बात को भी विस्तार से लिखा है। इस मामले में पूर्व में ही विधायक पत्नी युवती पर ब्लैकमेलिंग का आरोप भी लगा चुकी है। उधर, युवती की तहरीर के बाद विधायक महेश नेगी की परेशानी बढ़ गयी है, वहीं सत्ताधारी दल से जुड़े होने के कारण पुलिस पर भी दबाव बढ़ गया है।

उधर, इस पूरे मामले पर डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि जांच की जा रही है। जांच के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, विधायक महेश नेगी को लेकर उठे विवाद पर सियासत भी तेज हो गई है। कांग्रेस ने इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने की मांग की है। पीसीसी चीफ प्रीतम सिंह ने विधायक पर आरोप लगाने वाली महिला के वीडियो की भी जांच की मांग की है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि आखिर विधायक DNA टेस्ट कराने से घबरा क्यों रहे हैं।

उधर, बीजेपी ने भी साफ कर दिया है कि कानून अपना काम करेगा, कांग्रेस की इस पर राय की जरूरत नहीं है।

Source :Agency news