ALL लेख
सेना की कैंटीनों में अब नहीं मिलेंगे चाइनीज सामान, विदेशी शराब पर भी लग सकता है बैन
October 24, 2020 • Anil Kumar

आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत देश में बने उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए रक्षा मंत्रालय सीएसडी कैंटीनों में चीन सहित दूसरे देशों से आने वाले उत्पादों को बैन करने की योजना बना रहा है। इस मामले की जानकारी रखने वाले लोगों के मुताबिकत, दूसरे देशों से पूरी तरह से तैयार होकर आने वाले उत्पादों को बैन किया जाएगा। इसमें विदेशों से पैक होकर आने वाले शराब की बिक्री भी बंद हो जाएगी, उदाहरण के तौर पर स्कॉटलैंड से आने वाले स्कॉच ब्रैंड की शराब अब कैंटीन में नहीं मिलेगी क्योंकि इसे स्कॉटलैंड में तैयार किया जाता है।

रक्षा सूत्रों ने कहा, ''कैंटीन स्टोर डिपार्टमेंट (सीएसडी) में विदेशों से आयात होने वाले सामानों की बिक्री बंद हो जाएगी।'' सीएसडी देश में सबसे बड़ा रिटेल स्टोर चेन चलाती है, जिसके 3,500 से अधिक कैंटीन हैं, जो उत्तर में सियाचिन ग्लेशियर से दक्षिणी हिस्से में स्थित अंडमान और निकोबार तक फैले हैं। 

कैंटीन में 5 हजार से अधिक उत्पाद बेचे जाते हैं, जिनमें से 400 का विदेशों से आयात होता है। इनमें से अधिकतर सामान जैसे टॉलेट ब्रश, डायपर पैंट्स, राइस कूकर, इलेक्ट्रिक बर्तन, सैंडविच टोस्टर, वैक्यूम क्लीनर्स, चश्मे, लेडीज हैंडबैग, लैपटॉप और डेस्कटॉप कंप्यूटर्स चाइनीज कंपनियों के होते हैं।  

सूत्र ने बताया कि इस योजना पर काम चल रहा है कि सीएसडी में इन उत्पादों को बैन कर दिया जाएगा और इनकी जगह पर भारतीय उत्पादों की बिक्री की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि कैंटीन में विदेशी शराब के आयात को भी बंद किया जा सकता है। पिछले कुछ महीनों से यूनिट रन कैंटीन्स में अच्छी क्वॉलिटी की विदेशी शराब उपलब्ध नहीं है।

Source:ANI