ALL लेख
स्कूल टीचर ने प्रेमी संग मिलकर पति को लगा दिया ठिकाने, फोन रिकॉर्डिंग से खुल गया सारा राज
August 29, 2020 • Anil Kumar

नारनौल के एक गांव में पति की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में 15 अगस्त को पुलिस को एक शव पड़ा हुआ मिला था, इसी मामले की जांच पुलिस कर रही थी। पुलिस को मोबाइल कॉल डिटेल से इसका खुलासा हुआ है।

जानकारी के मुताबिक नारनौल के नावां गांव निवासी टीचर की 15 अगस्त को निम्बाहेड़ी से निम्बी रोड बणी के पास सड़क के किनारे शव मिला था। इस मामले में मृतक की पत्नी की शिकायत पर थाना महेंद्रगढ में हत्या का केस दर्ज किया गया था।

इस मामले में पुलिस ने अब खुलासा करते हुए मृतक की पत्नी को ही गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी पत्नी को कोर्ट में पेश कर दो दिन का रिमांड पर लिया है। अब पुलिस इस हत्याकांड के सारे राज उगलवाने में जुटी हुई है।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि 15 अगस्त को पुलिस को सूचना मिली थी कि नावां के टीचर की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है। जिसके बाद मृतक की पत्नी और परिजनों ने शक जताया था कि यह दुर्घटना में मौत नहीं बल्कि हत्या है। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरु की थी।

प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक सुलोचना गजराज यह केस 19 अगस्त स्पेशल स्टाफ महेंद्रगढ़ को सौप दिया। जिसके लिए एक टीम बनाई, जिसमें इंचार्ज मनोज कुमार, एएसआई गुणपाल, एएसआईं अशोक, एचसी अनिल व सिपाही मनजीत को शामिल किया गया। इस टीम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए जल्द ही इस हत्या की गुत्थी को सुलझा लिया और मृतक की पत्नी को उसके गांव नावां से गिरफ्तार किया।

इसके बाद आरोपी पत्नी को महेंद्रगढ़ कोर्ट में पेश किया गया और दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान हत्या में शामिल मनीष व अन्य आरोपियों के बारे में भी पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा मोबाइल फोन की भी बरामदगी करनी है।पुलिस रिमांड के दौरान सामने आया है कि मृतक टीचर की शादी करीब 15-16 साल पहले हुई थी। मृतक के तीन बच्चे भी हैं। मृतक निम्बी के स्कूल में टीचर था जबकि आरोपी पत्नी सरकारी स्कूल में ड्राइंग टीचर लगी हुई है।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपित पत्नी की करीब दो साल पहले नांगलमाला निवासी मनीष के साथ दोस्ती हुई थी। दोनों किसी शादी समारोह में मिले थे, जिसके बाद दोनों के बीच प्यार हो गया और अक्सर मिलने जुलने लगे थे। आरोपी मनीष अक्सर महिला टीचर के घऱ पर मिलने के लिए आता था।

पूछताछ के दौरान सामने आया है कि आरोपित पत्नी अपने प्रेमी मनीष को पति के स्कूल जाने के बाद बुलाती थी। अब दोनों का प्यार परवान चढ़ चुका था जिसके बाद शादी करना चाहते थे और पति को ठिकाने लगाने की योजना बनाई थी। इस हत्याकांड को अंजाम देने के लिए आरोपी मनीष ने सैकेंड हैंड बुलेरो गाड़ी खरीदी थी और उसी से एक्सीडेंट का रुप दिया गया।

आरोपित पत्नी ने मनीष को गाड़ी खरीदने के लिए 50 हजार रुपये भी दिये थे। इसके बाद 15 अगस्त को जब टीचर अपनी मोटरसाइकिल पर स्कूल जा रहा था, तब आरोपित पत्नी ने इसकी सूचना मनीष को दे दीथ मनीष अपने साथियों के साथ सड़क पर तैयार था और जैसे ही बाइक आया तो उसने अपनी गाड़ी से टक्कर मारकर गिरा दिया।