ALL लेख
तेजस्वी का चुनावी वादा, राजद सरकार बनने पर बिहार के 10 लाख युवाओं को देंगे स्थायी नौकरी
September 28, 2020 • Anil Kumar

तेजस्वी ने दावा किया कि बिहार में शिक्षा क्षेत्र में तीन लाख शिक्षकों की ज़रूरत है। प्राथमिक और माध्यमिक स्तर पर ढाई लाख से अधिक स्थायी शिक्षकों की पद रिक्त है। कॉलेज और विश्वविद्यालय स्तर पर लगभग 50 हज़ार प्रोफ़ेसरों की आवश्यकता है।

 

पटना। बिहार में विपक्षी महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे राजद के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने रविवार को कहा कि सत्ता में आने पर मंत्रिमंडल की पहली बैठक में राज्य के 10 लाख युवाओं को स्थायी नौकरी देंगे। पटना स्थित राजद के प्रदेश कार्यालय में रविवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए तेजस्वी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार बनने पर मंत्रिमंडल की पहली बैठक में हम राज्य के 10 लाख युवाओं को स्थायी नौकरी की मंजूरी देंगे।’’ उन्होंने कहा कि राजद द्वारा पिछले पांच सितंबर को शुरू ‘बेरोज़गारी हटाओ’ पोर्टल पर अब तक नौ लाख से ज्यादा बेरोज़गार युवाओं और 13 लाख सेज्यादा लोगों ने टोल फ़्री नम्बर पर मिस्ड कॉल किया। अब तक कुल 22 लाख 58 हज़ार 950 लोगों ने निबंधन कराया है। तेजस्वी ने दावा किया कि बिहार में चार लाख 50 हज़ार रिक्तियाँ पहले से ही है। शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत एव तय मानकों के हिसाब से बिहार में अभी भी 5 लाख 50 हज़ार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है। अकेले स्वास्थ्य विभाग में ही ढाई लाख लोगों की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के स्वास्थ्य मानक के अनुसार प्रति 1000 आबादी पर एक डॉक्टर होना चाहिए लेकिन बिहार में 17 हज़ार की आबादी पर एक डॉक्टर है। इस हिसाब से बिहार में एक लाख पचीस हज़ार डॉक्टरों की ज़रूरत है। तेजस्वी ने कहा कि उसी अनुपात में सहायक कर्मियों जैसे नर्स,लैब टेक्निशियन एवं फ़ार्मसिस्ट की ज़रूरत है। उन्होंने दावा किया कि राज्य में पुलिसकर्मियों के 50 हजार से अधिक पद रिक्त हैं। तेजस्वी ने दावा किया कि बिहार में 1.26 लाख पुलिसकर्मियों की जरूरत है। 

Source:Agency news