ALL लेख
ठगी के आरोप में पुष्पांजलि के निदेशक का पत्नी समेत लुक आउट सर्कुलर जारी
October 10, 2020 • Anil Kumar

कई निवेशकों से लाखों रुपये ठग कर दुबई भाग गए पुष्पांजलि बिल्डर्स के निदेशक और उसकी पत्नी के खिलाफ शुक्रवार को लुक आउट सर्कुलर जारी कर दिया गया है। डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि दोनों जब भी भारत में कदम रखेंगे उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

 

देहरादून / फ्लैट बनाकर देने के नाम कई निवेशकों से लाखों रुपये ठग कर दुबई भाग गए पुष्पांजलि बिल्डर्स के निदेशक और उसकी पत्नी के खिलाफ शुक्रवार को लुक आउट सर्कुलर जारी कर दिया गया है। डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि दोनों जब भी भारत में कदम रखेंगे, उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

राजपुर रोड एनक्लेव में रहने वाली कविता भाटिया ने बीती जुलाई में एसएसपी से शिकायत की थी। इसमें कविता ने बताया था कि उन्होंने पुष्पांजलि रियलएम इन्फोटेक से ऑर्चिड पार्क में एक फ्लैट के लिए 10 मार्च 2017 को एग्रीमेंट किया था। उनका आरोप है कि एग्रीमेंट से पहले पुष्पांजलि के कार्मिक रोहित, रितेश, परमिंदर और निखिल ने उसी वर्ष दीपावली तक फ्लैट पूरी तरह तैयार होने की बात कही थी। फ्लैट की कीमत एक करोड़ 15 लाख 12 हजार 470 रुपये थी।

मार्च से मई के बीच कविता ने कंपनी को 57 लाख 95 हजार 884 रुपये का भुगतान कर दिया, लेकिन तय समय पर फ्लैट बनाकर देना तो दूर कंपनी ने उसका काम भी शुरू नहीं कराया। इसके बाद जब भी कविता कंपनी के अधिकारियों से फ्लैट के लिए कहतीं, वह टालमटोल कर देते। इस तरह दो वर्ष बीत गए। बीते वर्ष 10 अगस्त तक भी कंपनी ने फ्लैट का निर्माण शुरू नहीं किया। कविता मौके पर पहुंचीं तो साइट ऑफिस भी बंद मिला। इस पर कविता ने कंपनी के अधिकारियों से अपने रुपये वापस मांगे तो उन्हें फिर टरका दिया गया। 

 

सितंबर 2019 में कविता कंपनी के निदेशक दीपक मित्तल और उसके साथी राजपाल वालिया से मिलीं और फ्लैट के संबंध में स्थिति साफ करने को कहा तो आरोपितों ने कह दिया कि उनके पास फ्लैट का निर्माण करने के लिए पैसे ही नहीं हैं। राजपुर थानाध्यक्ष राकेश शाह ने बताया कि कविता भाटिया की शिकायत पर बीती जुलाई में पुष्पांजलि के निदेशक दीपक मित्तल और उप निदेशक राखी मित्तल के अलावा राजपाल वालिया, रोहित, रितेश, परमिंदर व निखिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। अब दीपक और उसकी पत्नी राखी का लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है।

Source:Jagran samachar