ALL लेख
तुर्की भूकंप के तीन दिन बाद मलबे से दो लड़कियों को निकाला गया जीवित, मरने वालों की संख्या बढ़कर 81 हुई
November 3, 2020 • Anil Kumar

तुर्की में आए शक्तिशाली भूंकप में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 81 हो गई है।इस भूकंप में एक हजार से अधिक लोग घायल हुए हैं। यूनान के सामोस द्वीप के उत्तरपूर्व में इजियन सागर में इस भूकंप का केंद्र था। इससे सामोस में दो किशोरों की जान चली गयी और 19 अन्य घायल हुए।

 

इजमिर (तुर्की) /  तुर्की और यूनान के बीच इजियन सागर में शक्तिशाली भूकंप आने के तीन दिन बाद सोमवार को बचाव दलों ने इजमिर शहर में एक अपार्टमेंट के मलबे से दो लड़कियों को जीवित निकाला। तुर्की के तीसरे सबसे बड़े शहर इजमिर में ध्वस्त भवनों से रातभर बचाव दलों द्वारा शव निकाले जाने के साथ शुक्रवार के इस जबर्दस्त भूंकप में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 81 हो गई है। इस भूकंप में एक हजार से अधिक लोग घायल हुए हैं। यूनान के सामोस द्वीप के उत्तरपूर्व में इजियन सागर में इस भूकंप का केंद्र था। इससे सामोस में दो किशोरों की जान चली गयी और 19 अन्य घायल हुए। एनटीवी टेलीविजन के अनुसार करीब 58 घंटे तक मलबे में फंसे रहने के बाद सोमवार को जब 14 वर्षीय इदिल सिरीन को निकाला गया तब बचावकर्मियों ने खुशी से तालियां बजायीं। हालांकि उसकी आठ वर्षीय बहन इपेक नहीं बच पायीं।

 

सात घंटे बाद बचावकर्मियों ने तीन साल की एलीफ पेरिनसेक को मलबे से निकाला। दो दिन पहले उसकी मां और दो बहनों को निकाला गया था। सरकारी अनादोलू समाचार एजेंसी के मुताबिक तीन वर्षीय बच्ची अपने अपार्टमेंट के मलबे में 65 घंटे तक रही। वह राहतकर्मियों द्वारा मलबे से जिंदा बचाई गई 106 वीं जिंदगी थी। जब इन लड़कियों को लेकर एंबुलेंस अस्पताल की ओर जा रही थी तब लोगों ने तालियां बजा कर राहत अभियान में लगे लोगों का हौंसला बढ़ाया। वैसे इस भूकंप की तीव्रता को लेकर कुछ विवाद भी हो गया है। अमेरिकी भूगर्भ विज्ञान सर्वेक्षण संस्थान ने इसकी तीव्रता 7.0 बतायी है जबकि इस्तांबुल के कांडिली इंस्टीट्यूट के अनुसार इसकी तीव्रता 6.9 थी। तुर्की की आपातकालीन एजेंसी के मुताबिक इसकी तीव्रता 6.6 मापी गयी। शुक्रवार के भूकंप से इजमिर जिले के सेफेरिहिसार एवं सामोस में छोटी सुनामी भी आई। इस्तांबुल समेत पश्चिमी तुर्की और यूनान की राजधानी एथेंस में झटके महसूस किये गये।

Sources:Agency News