ALL लेख
Unlock 5: मसूरी में पर्यटकों के लिए खुले कंपनी गार्डन, भट्ठा फॉल और ईको पार्क
October 16, 2020 • Anil Kumar

अनलॉक-5 की गाइडलाइन लागू होने के बाद मसूरी और आसपास के पर्यटक स्थल भी खुल गए हैं। गुरुवार को कंपनी गार्डन भट्ठाफॉल और ईको पार्क खुलते ही सैलानियों ने प्रकृति के मनोरम नजारों का दीदार किया। इसके साथ ही यहां के कारोबारियों के चेहरे भी खिल गए हैं।

 

मसूरी /  अनलॉक-5 की गाइडलाइन लागू होने के बाद मसूरी और आसपास के पर्यटक स्थल भी खुल गए हैं। गुरुवार को कंपनी गार्डन, भट्ठाफॉल और ईको पार्क खुलते ही बड़ी संख्या में सैलानियों ने प्रकृति के मनोरम नजारों का दीदार किया। इसके साथ ही यहां के कारोबारियों के चेहरे भी खिल गए हैं। उनका कहना है कि अब उम्मीद है कि सब कुछ बेहतर रहेगा और उनका काम चल पड़ेगा। 

कंपनी गार्डन वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह राणा ने कहा कि गार्डन में पर्यटकों की आवाजाही शुरू होने से व्यवसायियों व कर्मचारियों की आर्थिकी भी शुरू हो गई है। गार्डन को प्रतिदिन सैनिटाइज किया जाएगा और प्रवेश द्वार पर पर्यटकों के लिए सैनिटाइजर स्टैंड लगा दिया गया है। भट्ठाफॉल रोपवे संचालक शूरवीर सिंह रावत व हुकम सिंह रावत ने बताया कि रोपवे कैबिन की क्षमता 12 लोग को ले जाने की है, लेकिन गाइडलाइन को ध्यान रखते हुए केबिन में पांच लोग ही एक बार में बैठ रहे हैं। मसूरी वनप्रभाग के आदेशों के बाद गुरूवार को धनोल्टी ईको पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है।

 

सात माह बाद खुला देहरादून जू, पहले ही दिन उमड़े पर्यटक

कोरोना महामारी के कारण करीब सात माह बाद प्रदेश के छह नेशनल पार्क, सात वाइल्ड लाइफ सेंचुरी, चार कंजर्वेशन रिजर्व और दो चिड़ियाघरों के द्वार गुरुवार को बदले नियम-कायदों के साथ आमजन के लिए खोल दिए गए। ये सभी कोरोना संकट के चलते बीती 22 मार्च से बंद चल रहे थे। देहरादून चिड़ियाघर में पहले ही दिन बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़े। इससे चिड़ियाघर के कर्मचारियों के चेहरे भी खिले नजर आए। चिल्ड्रन पार्क में बच्चों ने खूब मस्ती की। वहीं, लंबे समय से सुप्त अवस्था में जीवन व्यतीत कर रहे वन्यजीव भी भीड़ देखकर चहक उठे।

पहले दिन चिड़ियाघर में केंद्र की गाइडलाइन का सख्ती से पालन होता नजर आया। वन रेंज अधिकारी मोहन सिंह रावत ने बताया कि पिछले काफी समय से वन्यजीव अपने बाड़ों में सुप्त अवस्था में थे। खासकर गुलदार का जोड़ा दिनभर एक ही स्थान पर पड़ा रहता था। गुरुवार को चिड़ियाघर में पर्यटकों की चहल-पहल शुरू हुई तो गुलदार भी बाड़े में चहलकदमी करने लगे। अन्य जीव भी सामान्य दिनों की तरह सक्रिय दिखे। देहरादून चिड़ियाघर के निदेशक पीके पात्रो ने बताया कि चिड़ियाघर में प्रवेश के दौरान सभी की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है।

आगंतुकों के बीच सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए टिकट काउंटर भी बढ़ा दिए गए हैं। इसके अलावा एक्वेरियम और सर्प बाड़े में एक बार में 20 लोग को ही प्रवेश दिया जा रहा है। जबकि, थ्रीडी मूवी थिएटर अभी बंद रखा गया है।

Source:Jagran news