ALL लेख
Unlock: रजिस्ट्रेशन के फेर में उलझे यात्रीयों को झेलनी पड़ रही परेशानी, दूसरे राज्यों से आएं तो कैसे आएं उत्तराखंड
September 3, 2020 • Anil Kumar

राज्य के भीतर यात्रा करने वालों को करीब 19 घंटे फजीहत झेलनी पड़ी। स्मार्ट सिटी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन नहीं होने से लोगों को यात्रा स्थगित तक करनी पड़ी। अफसर कहते रहे कि राज्य के भीतर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है। इधर, सरकार ने मंगलवार शाम गाइडलाइन में इसे जरूरी कर दिया था। 

मंगलवार शाम अनलॉक-4 गाइडलाइन जारी होते ही मुश्किलें भी शुरू हो गई। इसमें राज्य के भीतर यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी कर दिया गया। इसकी पहले छूट दी गई थी। जिन लोगों को मंगलवार शाम को ही तत्काल यात्रा करनी थी, वह नियम कायदों के फेर में स्मार्ट सिटी की वेबसाइट में उलझ गए। राज्य के भीतर ट्रेन और हवाई जहाज से यात्रा करने वालों के भी रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाए।

पारिवारिक सदस्य की मृत्यु सूचना पर दून से अल्मोड़ा जा रहे एक परिवार को पूरी रात इंतजार करना पड़ा। पंजीकरण हो जाता तो वह अंतिम संस्कार में शामिल हो पाते। बुधवार सुबह टैक्सी घर के आगे खड़ी थी और रजिस्ट्रेशन तक नहीं हो पाया। मामला अफसरों  के संज्ञान में लाया गया तो दोपहर पौने दो बजे यह प्रक्रिया शुरू हुई। 

भौगोलिक स्थिति का भी नहीं ख्याल
देहरादून-रुड़की हो या फिर दून-कुमाऊं का सफर, यूपी से होकर गुजरना ही पड़ता है। ऐसे में रजिस्ट्रेशन नहीं है तो यूपी बॉर्डर पर अपने ही राज्य में प्रवेश करने में आनाकानी की जाती है। यह साबित करना मुश्किल हो जाता है कि वह अपने ही राज्य से आ रहे हैं या फिर यूपी समेत किसी अन्य राज्य से। ऐसे में रजिस्ट्रेशन सबसे बेहतर विकल्प है। 

कैसा ई-ऑफिस साहब
कलक्ट्रेट से लेकर तहसील,  सीडीओ समेत तमाम ऑफिस ई-ऑफिस बना दिए गए हैं। डीएम देहरादून के ट्िवटर हैंडल पर भी तमाम जानकारियां दी जाती है, पर जब यात्रा रजिस्ट्रेशन में खामी पर रि-ट्विट कर जानकारी दी गई तो उसका कोई जवाब तक नहीं आया। 


वेबसाइट की गई अपडेट
स्मार्ट सिटी वेबसाइट  http:// smartcitydehradun. uk. gov. in/  पर सिर्फ प्रवासियों के यात्रा पंजीकरण की सुविधा दी जा रही थी। जिसमें राज्य के भीतर यात्रा का विकल्प नहीं था। देहरादून स्मार्ट सिटी के dsclservices. org. in/ पेज पर पंजीकरण का विकल्प तो मौजूदा था, लेकिन पूरा फार्म भरने के बाद यह लिमिट पूरी बता दे रहा था। अनलॉक 4 के दिशा निर्देश भी छह घंटे बाद मंगलवार रात साढ़े 11 बजे अपडेट हुए और रजिस्ट्रेशन लिमिट हटाने में 19 घंटे लग गए। 


अनलॉक-4 की गाइडलाइन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फार्मेट के साथ अपलोड करने में वक्त लगा है, जिसमें कुछ वक्त के लिए जरूर दिक्कतें आई हैं। अपलोड होने के बाद जरूरी संसोधन कर पंजीकरण की सुविधा फिर से शुरू कर दी गई है। अब पंजीकरण हो रहे हैं।
डा. आशीष श्रीवास्तव, सीईओ, स्मार्ट सिटी