ALL लेख
उत्तराखंड के पांच जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, ऑरेंज अलर्ट जारी
July 30, 2020 • Anil Kumar

मानसून की बारिश उत्तराखंड में आफत बनकर बरस रही है। खासकर पर्वतीय जिलों में भारी बारिश और भूस्खलन से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। चमोली में भूस्खलन के चलते एक गोशाला ढह गई, जिसमें पांच मवेशी दब गए। इसके अलावा बदरीनाथ और गंगोत्री हाईवे भी कई स्थानों पर मलबा आने से लगातार बाधित हो रहा है। उधर, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिले में भी दुश्वारियां बरकरार हैं। भारी बारिश के कारण यहां करीब 25 मार्गों पर आवाजाही ठप है। चीन सीमा को जोड़ने वाले मार्गों पर भी लगातार भूस्खलन हो रहा है। बागेश्वर में तेज बारिश से तीन मकान ध्वस्त हो गए।

उत्तराखंड के अधिकतर जिलों में भारी बारिश का क्रम जारी रहा। मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार ही पर्वतीय जिलों में भारी बारिश के कई दौर हुए। जिससे जगह-जगह भूस्खलन के कारण दुश्वारियां बढ़ गईं। चमोली जिले के सिरोखोमा में गोशाला ढहने से पांच मवेशी दब गए। चमोली के ही गंणाई-मोल्टा में नदी के उफान पर आने से पुल बह गया, जिससे करीब दो सौ परिवारों का संपर्क कट गया है।

रामणी में तीन मकानों में दरार आ गई। बदरीनाथ-कर्णप्रयाग के बीच डेढ़ घंटे मार्ग बाधित रहा। भनारपानी में हाईवे पर मलबा आने से आवाजाही ठप है। गंगोत्री मार्ग भी बंदरकोट के पास कई घंटे बाधित रहा। उधर, पिथौरागढ़ में चीन सीमा से भी संपर्क कटा रहा। मुनस्यारी-थल और जौलजीबी-मुनस्यारी मार्ग मलबे के कारण बंद होने से जिला मुख्यालय से मुनस्यारी तहसील का संपर्क कटा हुआ है। काली, गोरी व रामगंगा नदियां उफान पर हैं। बागेश्वर जिले में 20 मोटर मार्ग बंद हैं। कपकोट में मकान पर बोल्डर गिरने से पांच लोग बेघर हो गए हैं। उधर, बादल फटने के बाद गोरीछाल में लुम्ती व घुरु ड़ी के 50 परिवार फंसे हुए हैं। जाराजिबली गांव में मलबे मेंं दबी महिला का बुधवार को दूसरे दिन भी पता नहीं चल सका। टांगा गांव में मलबे में दबे दो शवों में से एक शव निकाल लिया गया।

पांच जिलों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, गुरुवार को भी प्रदेश के अधिकतर जिलों में भारी बारिश हो सकती है। इसे लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। संबंधित जिलों में प्रशासन और आपदा प्रबंधन केंद्र को भी अलर्ट रहने की सलाह दी है। मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार को देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, रुद्रप्रयाग और चमोली जिले में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा कुमाऊं के सभी जिलों में हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान है।

चारधाम यात्रा मार्ग पर भी भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार, मंगलवार को चारधाम यात्रा मार्ग पर भी कहीं-कहीं भारी बारिश के एक से दो दौर हो सकते हैं। इसमें हरिद्वार से ऋषिकेश, मसूरी से हरिद्वार के बीच भारी बारिश की संभावना है। जबकि, ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग, रुद्रप्रयाग से जोशीमठ, रुद्रप्रयाग से केदारनाथ, टिहरी से उत्तरकाशी, उत्तरकाशी से बड़कोट, बड़कोट से यमुनोत्री के बीच भी गरज के साथ मध्यम बारिश हो सकती है।

प्रमुख शहरों का तापमान

शहर—————-अधिकतम————न्यूनतम

देहरादून————–28.7—————-23.9

मसूरी—————-20.5—————-16.6

टिहरी—————-24.0—————-18.3

उत्तरकाशी———-26.5—————-18.7

हरिद्वार————-31.3—————-27.2

जोशीमठ————-22.5—————16.4

पिथौरागढ़———–22.6—————-18.6

अल्मोड़ा————-24.5—————-18.2

मुक्तेश्वर———–18.2—————–16.1

नैनीताल————21.7—————-17.5

चंपावत————-24.6—————-18.5

ऊधमसिंह नगर—-26.8—————-25.0