ALL लेख
उत्तराखंड क्रिकेट टीम के कोच की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार देहरादून पहुंचे वसीम जाफर ने टीम उत्तराखंड को मुकाम तक पहुचने के लिए धोनी के जैसे डेडिकेशन की बताई जरूरत
August 17, 2020 • Anil Kumar

देहरादून  / घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले और घरेलू क्रिकेट के सचिन तेंदुलकर कहे जाने वाले वसीम जाफर को क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड, सीएयू ने अपना कोच नियुक्त किया है यानी अब उत्तराखंड की क्रिकेट टीम को एक ऐसे कोच का साथ मिला है जो घरेलू क्रिकेट में सफलता के शिखर पर रहे है।

इसी साल मार्च में सन्यास लेने वाले टेस्ट क्रिकेट में भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर को क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने अपना नया कोच नियुक्त किया है। घरेलू क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर के नाम से जाने जाने वाले इस बेहतरीन दाएं हाथ के बल्लेबाज की तुलना मोहम्मद अजहरुद्दीन से की जाती रही है। जाहिर है उत्तराखंड की क्रिकेट टीम को वसीम जाफर सफलता की नई इबारत लिखने में मदद करेंगे। भारत के लिए 31 टेस्ट मैच और 2 वनडे मैच खेलने वाले वसीम जाफर का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का सफर भले ही ज्यादा लंबा ना चलाओ लेकिन घरेलू क्रिकेट में वसीम जाफर ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं,उन्होंने अपनी क्रिकेट के सफर का ज्यादातर हिस्सा मुंबई के साथ बिताया है। जबकि उन्होंने विदर्भ के साथ भी अपना क्रिकेट खेला है यही नहीं विदर्भ को दो बार विजेता बनाने में भी वसीम जाफर ने अहम योगदान दिया है। यही नहीं वसीम जाफर का नाम रणजी मैचों में सर्वाधिक रन बनाने की लिस्ट में सबसे ऊपर है उनके बाद दूसरे नंबर पर अमोल मजूमदार हैं। इसके अलावा वसीम जाफर ने सर्वाधिक रणजी मैच खेलने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है। जाहिर है कि हालही में उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन की नई टीम को वसीम जाफर का साथ एक नए आयाम तक पहुंचाएगा खुद वसीम जाफर भी यही मानते हैं कि उत्तराखंड की टीम को नई ऊंचाइयों तक जरूर लेकर जाएंगे उनका मानना है कि उत्तराखंड में टैलेंट की भी कोई कमी नहीं है और जितने भी खिलाड़ी फिलहाल टीम में खेल रहे हैं सभी एक से बढ़कर एक हैं। हालांकि वसीम जाफर इसको एक बड़ी चुनोती भी मानते है। शायद यही वजह है कि उनको लगता कि उत्तराखंड की क्रिकेट टीम को उचाईयों तक पहुचाने के लिए महेंद्र सिंह धोनी जैसे डेडिकेशन की जरूरत है। ताकि एक बड़े मुकाम तक पहुचा जा सके।

Source :Agency news