ALL लेख
उत्तराखंड में कोरोना गाइडलाइन उल्लंघन पर 5 लाख से ज्यादा लोगों पर लगा कोविड-19 जुर्माना, 48 सौ मुकदमे भी दर्ज
October 19, 2020 • Anil Kumar

उत्तराखंड पुलिस ने लॉकडाउन के बाद से अब तक राज्य के 5.36 लाख लोगों पर कोविड-19 नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की है। यही नहीं लॉकडाउन उल्लंघन पर भी राज्यभर में करीब 4800 मुकदमे दर्ज किए हैं। पुलिस ने जुर्माने के रूप में इन सभी से 8.40 करोड़ रुपये भी वसूल किए हैं। इतनी बड़ी मात्रा में जुर्माना राशि जमा होने से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग कोरोना वायरस को लेकर किस तरह लापरवाही बरत रहे हैं।

डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने उत्तराखंड पुलिस के फेसबुक पेज पर ये जानकारी शेयर की है। साथ ही उन्होंने अनलॉक फेज के तहत राज्य में दी जा रही रियायतों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के बाद से अब तक उत्तराखंड पुलिस ने कोविड नियमों का उल्लंघन करने पर 5.36 लाख लोगों पर कार्रवाई की है।

पुलिस ने लॉकडाउन उल्लंघन पर अब तक 8.40 करोड़ रुपये जुर्माना वसूला है। अशोक कुमार ने बताया कि इनमें से 3.82 लाख लोगों पर सिर्फ मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई की गई है। जबकि 78 हजार लोगों पर सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर कार्रवाई की गई है। यही नहीं लॉकडाउन उल्लंघन पर करीब 4800 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। 


अब तक 1504 पुलिसकर्मी हुए संक्रमित : उत्तराखंड पुलिस में अब तक कुल 1504 लोग संक्रमित हुए हैं। ये जवान फ्रंट लाइन वॉरियर्स हैं। इनमें से 1346 ठीक हो चुके हैं। उत्तराखंड पुलिस का रिकवरी रेट 90% है। उत्तराखंड पुलिस का डेथ रेट 0.1% है। यानी कुल दो जवानों की मौत हुई है। तीन लोग जो गंभीर स्थिति में थे उन्हें बचाया गया है। इसका मतलब अगर आप समय से इलाज करें और सावधानी बरतें तो इससे बचा जा सकता है।

सिर्फ रजिस्ट्रेशन कराकर आ सकते हैं उत्तराखंड
डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने बताया कि राज्य में आने के लिए अब सिर्फ देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। कोरोना टेस्ट, होटल बुकिंग आदि जैसी पूर्व की अनिवार्यताएं खत्म कर दी गई हैं। लेकिन, प्रदेशवासियों के साथ उत्तराखंड आने वाले हर व्यक्ति को कोराना संबंधी सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सेनेटाइजेशन जैसे नियमों का पालन करना जरूरी है। ऐसा नहीं करने वाले पर पुलिस की कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

अनलॉक 5 में कोरोना के मामले बढ़ने की संभावना अधिक है। इसलिए सभी लोगों को कोविड नियमों का पालन करना जरूरी है। जब तक दवाई नहीं आती तब तक कोरोना नियमों के साथ जीने की आदत डालनी होगी। जो लोग नियमों का उल्लंघन करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 
अशोक कुमार, डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर, उत्तराखंड पुलिस

Source:Agency news