ALL लेख
उत्तराखंड : शीतकाल के लिए आज बंद हुए तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के कपाट
November 4, 2020 • Anil Kumar

आज पूर्वाह्न 11.30 बजे तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के कपाट शीतकाल के लिए विधि-विधान के साथ बंद कर दिए गए। इस मौके पर मंदिर में सुबह सात बजे से ही मंदिर में आराध्य की विशेष पूजा-अर्चना की गई।

पंच केदार में तृतीय तुंगनाथ मंदिर के कपाट शीतकाल के लए बंद करने की प्रक्रिया सुबह 6 बजे से शुरू हो गई। पुजारी रवींद्र मैठाणी, संजय मैठाणी व अन्य पुजारियों की मौजूदगी में मठापति राम प्रसाद मैठाणी के हाथों मंदिर के कपाट शीतकाल के बंद करने के संकल्प के साथ पूजा-अर्चना की गई।
आराध्य के स्वंभू लिंग को समाधि रूप देकर भव्य श्रृंगार किया गया। सुबह 10.30 बजे भगवान तुंगनाथ की भोग मूर्ति को चल विग्रह डोली में विराजमान करते हुए गर्भगृह से मंदिर परिसर में लाया गया। पूर्वाह्न 11.30 बजे मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए।
साथ ही चल विग्रह डोली शीतकालीन गद्दीस्थल मक्कूमठ के लिए प्रस्थान कर गई। मंदिर के प्रबंधक प्रकाश पुरोहित ने बताया कि धाम में करीब साढ़े चार हजार श्रद्धालु अभी तक दर्शन कर चुके हैं।


Sources:AmarUjala