ALL लेख
Uttarakhand assembly Session: पहली बार सत्र से वर्चुअली जुड़ेंगे विधायक, 15 विधायकों को मंजूरी
September 22, 2020 • Anil Kumar

देहरादून / कोरोनाकाल में 23 सितंबर को होने जा रहे विधानसभा के एक दिनी मानसून सत्र से पहली बार विधायक वर्चुअली जुड़ेंगे। अभी तक 15 विधायकों ने वर्चुअल आधार पर सत्र की कार्यवाही से जुड़ने के लिए विधानसभा को सहमति दे दी है। इसके साथ ही कोविड की गाइडलाइन के अनुसार सत्र की व्यवस्था को अंतिम रूप देने में विधानसभा जुटी हुई है। सत्र के दिन केवल मुख्यमंत्री और मंत्रियों के वाहनों को विस परिसर में प्रवेश मिल पाएगा। विधायकों के वाहन परिसर से बाहर पार्क होंगे और उनके साथ कोई भी सहवर्ती भी नहीं होगा। सुरक्षित शारीरिक दूरी के मानकों के मद्देनजर ऐसे अन्य कई कदम उठाए गए हैं। बावजूद इसके मानसून सत्र के दौरान वर्चुअल व्यवस्था के लिए बेहतर कनेक्टिविटी समेत अन्य चुनौतियां भी कम नहीं होंगी।

सभा मंडप को दिया गया विस्तार

विधानसभा के सभामंडप में विधायकों (70 निर्वाचित और एक मनोनीत) बैठने की जगह सीमित है, लेकिन इस बार सुरक्षित शारीरिक दूरी के लिहाज से बैठने की व्यवस्था करने के लिए सभामंडप को विस्तार दिया गया है। पत्रकार, दर्शक और अधिकारी दीर्घा तक इसे बढ़ाया गया है। साथ ही कक्ष संख्या 107 को वर्चुअल आधार पर जोड़कर इसे भी सभामंडप का हिस्सा बनाया गया है। अधिकारियों की संख्या भी सीमित रखी गई है। उनके बैठने की व्यवस्था कक्ष संख्या 120 में की गई है, जहां से वे वर्चुअली सदन में मौजूद रहेंगे। सभामंडप में तीन-चार अधिकारी ही बैठेंगे।

 

पेपर सैनिटाइजर मशीन का प्रयोग

सत्र के दौरान सुरक्षित शारीरिक दूरी के साथ ही सैनिटाइजेशन पर विशेष फोकस होगा। विधायकों और अधिकारियों को दिए जाने वाले प्रपत्रों को सैनिटाइज करने के लिए पेपर सैनिटाइजर मशीन का प्रयोग किया जाएगा। मुख्य द्वार, लॉबी और सभामंडप के द्वार पर सैनिटाइजर की व्यवस्था रहेगी। इसी दौरान विधायकों को मास्क, ग्लब्स भी मुहैया कराए जाएंगे।

 

वर्चुअली जुड़ने के लिए इन विधायकों ने दी सहमति

गोविंद सिंह कुंजवाल, बिशन सिंह चुफाल, चंदन रामदास, नवीन चंद्र दुम्का, संजीव आर्य, भरत चौधरी, राजकुमार, गणेश जोशी, ऋतु खंडूड़ी भूषण, दिलीप रावत, महेश नेगी, पुष्कर धामी, चंद्रा पंत, हरभजन सिंह चीमा व मनोनीत विधायक जार्ज आइवन ग्रेगरी मैन ने अब तक सत्र से वर्चुअल आधार पर जुडऩे की सहमति दी है। विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल ने इसकी पुष्टि की। गौरतलब है कि विधानसभा की ओर से कोरोना संकट के मद्देनजर विधायकों से वर्चुअल आधार पर सत्र से जुडऩे का आग्रह भी किया गया है। माना जा रहा कि मंगलवार तक कुछ और विधायक भी इसके लिए अपनी सहमति दे सकते हैं। संबंधित विधायक जिला मुख्यालयों में एनआइसी के माध्यम से सत्र की कार्यवाही से जुड़ेंगे।

 

कनेक्टिविटी समेत अन्य चुनौतियां

सत्र से विधायकों को वर्चुअली जोड़ने के लिए बेहतर कनेक्टिविटी समेत दूसरी चुनौतियां भी हैं। इसे देखते हुए विधानसभा में कंट्रोल रूम स्थापित किया जा रहा है। वहां से वर्चुअली सत्र से जुड़े विधायकों को विभिन्न सूचनाएं, नियमों आदि के बारे में वाट्सएप से जानकारियां दी जाएंगी। यदि कहीं कोई तकनीकी अड़चन आती है तो इसके बारे में भी कंट्रोल रूम से जानकारियां उपलब्ध कराई जाएंगी।

Source: Dainik Jagran