ALL लेख
विधायक दुष्कर्म प्रकरण: महिला के डीएनए सैंपल नहीं लेने का हुआ खुलासा
September 3, 2020 • Anil Kumar

द्वाराहाट विधायक प्रकरण में आरोप लगाने वाली महिला की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बाल आयोग के अनुसार, पुलिस जांच में शामली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में डीएनए को सैंपल नहीं लेने का खुलासा हुआ है। आयोग ने झूठे साक्ष्य प्रस्तुत करने पर महिला पर कार्रवाई के लिए डीआईजी अरुण मोहन जोशी को पत्र लिखा है।

विधायक महेश नेगी की पत्नी ने 13 अगस्त को नेहरू कॉलोनी थाने में अल्मोड़ा की महिला समेत चार लोगों पर ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज कराया था। मामले की जांच कर रहे सीओ सदर को सीएचसी शामली के सीएमएस ने रिपोर्ट भेजी है कि डीएनए टेस्ट कराने को दंपति का सैंपल नहीं लिया गया। सीओ सदर ने यह रिपोर्ट बाल संरक्षण आयोग को भेजी थी। बाल आयोग अध्यक्ष ऊषा नेगी ने डीआईजी को पत्र भेज गैरकानूनी तरीके से डीएनए टेस्ट कराने और झूठे तथ्य रखने पर महिला के खिलाफ कार्रवाई को कहा है। आयोग ने एक सप्ताह में कार्रवाई की रिपोर्ट भी तलब की है।  संबंधित खबर 


मामले की सभी पहलुओं पर जांच चल रही है। आयोग को प्रकरण से संबंधित प्रगति रिपोर्ट उपलब्ध कराई है। कुछ लोगों के बयान होने बाकी हैं, जो जल्द होंगे। 
अरुण मोहन जोशी, डीआईजी 

Source: Hindustan