ALL लेख
विवाहिता ने दुधमुंहे बेटे के साथ चंडी पुल पहुंचकर गंगा में लगाई छलांग;बची दोनों की जान
September 23, 2020 • Anil Kumar

हरिद्वार / हरिद्वार पहुंच बिजनौर निवासी एक महिला ने अपने दुधमुंहे बेटे के साथ गंगा में कूद गई। गनीमत रही कि यहां मौजूद कुछ युवकों ने उसे देख लिया और चेतक पुलिसकर्मियों की मदद से महिला और उसके बेटे को गंगा नदी से बाहर निकाला। उनकी हालत खतरे से बाहर है। बताया जा रहा है कि महिला पति से झगड़े के बाद से ही मायके में रह रही थी।   

बिजनौर के कल्याणपुर, नगीना निवासी रुबीना(बिजनौर) की शादी दो साल पहले स्योहारा बिजनौर निवासी सलमान के साथ हुई थी। पति से झगड़ा होने के बाद वो अपने एक साल के बेटे शादाब को लेकर मायके आ गई। पुलिस के मुताबिक जब मायके वालों ने उसे वापस ससुराल जाने को कहा तो वह ससुराल जाने की जगह बुधवार सुबह हरिद्वार आ गई। 

बेटे को लेकर यहां स्थित चंडी पुल के पास पहुंचकर महिला ने अचानक छलांग लगा दी। घाट पर नहा रहे कुछ युवकों और चेतक पुलिसकर्मियों ने उसे बचा लिया। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि विवाहिता और उसके बेटे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत खतरे से बाहर है। फिलहाल, मायके वालों को सूचना दे दी गई है।   

 

 

19 सितंबर को भी एक युगल ने यहां से गंगा में लगाई थी छलांग   

19 सितंबर को भी करीब 60 फीट ऊंचे चंडी पुल से एक युवक-युवती ने गंगा में छलांग लगा दी थी। युगल को खुली आंखों से जानलेवा कदम उठाता देख प्रत्यक्षदर्शियों की सांसें थम गई। जल पुलिस के गोताखोरों ने सर्च ऑपरेशन चलाकर उनकी तलाश की, पर दोनों का कुछ पता नहीं चल पाया। युवक-युवती कौन थे और उनके गंगा में कूदने के पीछे क्या वजह थी, पुलिस ने इन सवालों का जवाब ढूंढने के लिए जब आस-पास खोजबीन की तो एक बैग बरामद हुआ। बैग से सोनीपत हरियाणा निवासी युवती का पहचान पत्र मिला। हालांकि, गंगा में कूदने वाली युवती वो ही थी, जिसका पहचान पत्र मिला ये साफ नहीं हो पाया था। 

Source:Agency News